Sports

नई दिल्ली : जेफ बेजोस और मुकेश अंबानी के बीच दुनिया की सबसे महंगी खेल प्रॉपर्टी में से एक को हासिल करने की भिड़ंत अब देखने को नहीं मिल पाएगी क्योंकि ‘ओटीटी जायंट’ अमेजन ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मीडिया अधिकारों के लिए रविवार को शुरू होने वाली बोली से हटने का फैसला किया। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की वायकोम18 को टीवी और डिजिटल दोनों अधिकार हासिल करने के लिए मजबूत दावेदारों में से एक माना जा रहा है।

Big house of india,  IPL digital media rights, IPL, BCCI, cricket news in hindi, भारत का बड़ा घर, आईपीएल डिजिटल मीडिया अधिकार, आईपीएल, बीसीसीआई, क्रिकेट समाचार हिंदी में

डिजिटल अधिकारों के लिये सबसे बड़ी बोली लगाने के लिए बेजोस की अमेजन के सबसे आगे होने की उम्मीद थी लेकिन उसने कारण बताए बिना इस दौड़ से खुद को हटा लिया। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हां, अमेजन दौड़ से बाहर हो गया है। उन्होंने आज तकनीकी बोली प्रक्रिया में भी हिस्सा नहीं लिया। जहां तक गूगल (यूट्यूब) का संबंध है तो उन्होंने बोली दस्तावेज लिए थे लेकिन इन्हें जमा नहीं किया है। अभी तक 10 कंपनियां (टीवी और स्ट्रीमिंग) दौड़ में हैं। इस बार मीडिया अधिकारों के लिए चार विशेष पैकेज हैं जिसमें प्रत्येक सत्र के 74 मैचों के लिए दो दिन तक ई-नीलामी की जाएगी जो 2023 से 2027 तक 5 वर्ष के समय के लिए होगी जिसमें अंतिम दो वर्षों में मैचों की संख्या को बढ़ाकर 94 करने का भी प्रावधान है।

पैकेज ए में भारतीय उपमहाद्वीप एक्सक्लूसिव टीवी (प्रसारण) अधिकार हैं जबकि पैकेज बी में भारतीय उपमहाद्वीप के लिए डिजिटल अधिकार शामिल हैं। पैकेज सी प्रत्येक सत्र में 18 चुनिंदा मैचों के डिजिटल अधिकारों के लिए है जबकि पैकेज डी (सभी मैचों) विदेशी बाजार के लिए टीवी और डिजिटल के लिए संयुक्त अधिकार का होगा। 

Big house of india,  IPL digital media rights, IPL, BCCI, cricket news in hindi, भारत का बड़ा घर, आईपीएल डिजिटल मीडिया अधिकार, आईपीएल, बीसीसीआई, क्रिकेट समाचार हिंदी में

अधिकारी ने कहा कि इसे स्पष्ट कर देते हैं कि वायकोम18 जेवी (ज्यांइट वेंचर), मौजूदा अधिकारधारी वाल्ट डिज्नी (स्टार), जी और सोनी पैकेज के लिए 4 दावेदार हैं जिनकी टीवी और डिजिटल बाजार पर मजबूत पकड़ है। कुछ अन्य दावेदार, मुख्यत: डिजिटल अधिकारों के लिए टाइम्स इंटरनेट, फनएशिया, ड्रीम11, फैनकोड हैं जबकि स्काई स्पोट्र्स (ब्रिटेन) और सुपरस्पोर्ट (दक्षिण अफ्रीका) विदेशी टीवी और डिजिटल अधिकारों की कोशिश में जुटे होंगे।

 

पिछली बार स्टार इंडिया ने टीवी और डिजिटल दोनों अधिकार 16,347.50 करोड़ रुपए की संयुक्त बोली में हासिल किये थे लेकिन इस दफा समग्र आधार मूल्य 32,000 करोड़ रूपये से अधिक का होगा। सभी बोली लगाने वाली कंपनियों को इस बार प्रत्येक पैकेज के लिए अलग-अलग बोली लगानी होंगी।

.
.
.
.
.