Sports

डोर्टमंड ,जर्मनी ( निकलेश जैन ) जबरजस्त लय मे चल रहे 51 वर्षीय भारत के पाँच बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें 48 वे डोर्टमंड शतरंज फेस्टिवल मे स्पार्कसेन शतरंज ट्रॉफी का खिताब अपने नाम कर लिया है । चार क्लासिकल मुकाबलों की इस सीरीज मे आनंद नें रूस के पूर्व विश्व चैम्पियन ब्लादिमीर क्रामनिक को 2.5-1.5 से पराजित करते हुए श्रंखला अपने नाम कर ली । इस टूर्नामेंट के सभी मुक़ाबले “नो केसलिंग “ शतरंज के अंतर्गत खेले गए जिसमें खिलाड़ी को शतरंज के सभी नियमों को तो पालन करना होता है पर राजा की सुरक्षा का खास नियम किलबंदी करने की उन्हे अनुमति नहीं दी जाती है और ऐसे मे राजा की सुरक्षा करना कठिन काम बन जाता है और खेल बेहद चुनौतीपूर्ण बन जाता है । दोनों के बीच हुए मुकाबलों मे पहला मैच जीतकर आनंद नें बढ़त अंत तक कायम रखी । अंतिम राउंड मे मैच शुरू होने के पहले आनंद 2-1 से आगे चल रहे थे और सीरीज जीतने के लिए उन्हे ड्रॉ की जरूरत थी । क्रामनिक नें सफ़ेद मोहरो से अंतिम मैच मे बहुत ज़ोर लगाया पर आनंद नें शानदार बचाव करते हुए मैच को बराबरी पर रोक लिया । इस तरह आनंद इस खास तरह के फॉर्मेट मे खेले गए पहले अधिकृत टूर्नामेंट जीतने वाले खिलाड़ी भी बन गए।

.
.
.
.
.