Sports

अहमदाबाद : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट को लेकर ईशांत शर्मा की प्रतिबद्धता की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह चाहता तो कैरियर को लंबा करने के लिये सीमित ओवरों के क्रिकेट को चुन सकता था लेकिन उसने टेस्ट क्रिकेट चुना। 32 के ईशांत इंग्लैंड के खिलाफ बुधवार से शुरू हो रहे दिन रात के तीसरे टेस्ट में उतरेंगे तो कपिल देव के बाद 100 टेस्ट खेलने वाले भारत के दूसरे तेज गेंदबाज बन जाएंगे।

कोहली ने कहा कि आधुनिक क्रिकेट में यह बड़ी उपलब्धि है। अपनी फिटनेस बनाए रखना और सौ टेस्ट खेलना किसी तेज गेंदबाज के लिये आसान नहीं है। वह सीमित ओवरों के क्रिकेट को चुन सकता था लेकिन उसे इसका श्रेय जाता है कि उसने नहीं चुना। उन्होंने कहा कि कई लोगों की प्रेरणा खत्म हो जाती है। उसके पास कौशल है और वह चाहता तो चार ओवर, दस ओवर का क्रिकेट और नियमित रूप से आईपीएल खेल सकता था। लेकिन टेस्ट क्रिकेट के प्रति वह पूरी तरह से समर्पित हो गया।

Sports

ईशांत ने आखिरी वनडे 2016 में और आखिरी टी20 मैच 2013 में खेला था। पुरानी यादें ताजा करते हुए कोहली ने कहा कि मैं बरसों से ईशांत को जानता हूं। उसने मेरे साथ ही स्टेट क्रिकेट खेलना शुरू किया था। पहले सत्र से ही हम रूममेट थे और कई साल तक रणजी ट्रॉफी साथ खेले। उन्होंने कहा कि जब उसका भारतीय टीम में चयन हुआ, तब वह दोपहर में गहरी नींद सो रहा था। मुझे उसे बिस्तर से गिराकर बताना पड़ा कि उसका चयन हो गया है। उसे भरोसा ही नहीं हुआ। हमने कहां से साथ शुरूआत की थी और आज वह 100वां टेस्ट खेलने की दहलीज पर है। मैं उसके लिए बहुत खुश हूं।

.
.
.
.
.