Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए पहली ट्रांसजेंडर नीति की घोषणा की है। इस नीति के तहत अब ट्रांसजेंडर महिलाएं भी क्रिकेट खेल सकेंगी, बशर्ते उन्हें कुछ नियमों का पालन करना होगा। बोर्ड ने इस नीति के एवज में खिलाड़ियों के लिए आदेश जारी कर दिया है। 

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड के मुताबिक अगर कोई ट्रांसजेंडर महिला खिलाड़ी टीम में खेलने की इच्छुक है तो उसे टेस्टोस्टेरोन टेस्ट देना होगा जिसके तहत उनके टेस्टोस्टेरोन का स्तर 10 नैनोमोल्स से कम होना चाहिए। इसी के बाद ही वह टीम के साथ खेल सकती है। 

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई महिला बल्लेबाज और न्यू साउथ वेल्स की बोर्ड अधिकारी एलेक्स ब्लैकवेल ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इस खेल (क्रिकेट) को अब पूरा देश खेल सकता है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की और से लिया गया ये फैसला बेहद अहम है। 

.
.
.
.
.