Sports

नई दिल्ली : राजस्थान को हैदराबाद पर रोमांचक जीत दिलाने के बाद राहुल तेवतिया ने कहा- मेरी भूमिका शुरू से स्पष्ट रही है। मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था इसलिए मुझमें आत्मविश्वास था। यहां तक कि अभ्यास खेलों में भी मैं गेंद को अच्छी तरह से मार रहा था। यह आपकी भूमिका को अच्छे से निभाने के बारे में है। जब मैं अंदर गया, तो रियान से कहा कि विकेट धीमा है, और मैच को गहराई से लेना बेहतर विकल्प है। यहां तक कि अगर हम अंतिम चार ओवरों में पाने के लिए 55 या 60 थे, तो हमारे पास एक मौका था क्योंकि हम दोनों अच्छे पावर-हिटर हैं।

PunjabKesari

तेवतिया बोले- रन रेट ज्यादा था इसलिए हमारा विकेट फेंकने का कोई मतलब नहीं था- जब 7 ओवर बाकी थे - तो हमारा लक्ष्य इसे और गहरा लेना था। राशिद के खिलाफ, मैंने रियान से कहा कि वह अच्छी गेंदों का सम्मान करे और उसके क्षेत्र में होने पर ही उसके पीछे जाए। उससे कहा कि अगर सिंगल आता है तो मैं एक मौका लूंगा। यही हुआ, उसने एक सिंगल लिया और मैंने एक मौका लिया।

PunjabKesari

वहीं, राशिद को बैक टू बैक रिवर्स स्वीप मारने पर उन्होंने कहा- फील्ड ऐसा था कि रिवर्स-स्वीप अच्छी जाती। जब मैंने राशिद को दो चौके मार दिए तो उसके बाद मैंने दोबारा मौका लेने के लिए अपना मन नहीं बनाया। लेकिन यह मेरे क्षेत्र में उतरा, जिसके कारण मैं इसके लिए गया। वहीं, हैदराबाद के बॉलर खलील अहमद के साथ अंत में हुए विवाद पर तेवतिया बोले- अंत में थोड़ी गर्म हो गई थी। ऐसी स्थितियों में ऐसा होता है।

.
.
.
.
.