Sports

हैमिल्टन : न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ग्लेन टर्नर को हैरानी है कि मौजूदा द्विपक्षीय श्रृंखला में भारत के पास जसप्रीत बुमराह की अगुवाई में शानदार तेज आक्रमण होते हुए भी फिलहाल मेजबान का पलड़ा भारी लग रहा है। टर्नर को हालांकि उम्मीद है कि बुमराह और मोहम्मद शमी 21 फरवरी से शुरू हो रही टेस्ट श्रृंखला में बेहतर प्रदर्शन करेंगे। 5 मैचों की टी-20 श्रृंखला 5-0 से जीतने के बाद भारत ने वनडे श्रृंखला 0-3 से गंवा दी। 

टी-20 क्रिकेट खेल पर धब्बा 

PunjabKesari

टर्नर ने कहा- मेरे पास टी-20 क्रिकेट के लिए बिल्कुल समय नहीं है। यह खेल पर धब्बा है। 50 ओवरों के मैच में खेल होता है। मुझे लगता है कि दोनों टीमों के गेंदबाजों ने काफी निराश किया। उन्होंने कहा कि इस समय न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी लग रहा है लेकिन मैं हैरान हूं। मुझे समझ नहीं आ रहा कि भारतीय टीम का प्रदर्शन वनडे श्रृंखला में बेहतर क्यों नहीं रहा। टर्नर ने कहा कि टेस्ट में भारत को दिक्कत हो सकती है क्योंकि उसने सफेद गेंद से काफी क्रिकेट खेली है। 

शमी बेहतर करेंगे

PunjabKesari

उन्होंने कहा कि शमी प्रतिभाशाली है और उसमें दमखम भी है। टेस्ट श्रृंखला शुरू होने पर उसका प्रदर्शन बेहतर होगा क्योंकि इसमें सीमित ओवरों की परिस्थितियां नहीं रहेंगी। उन्होंने बुमराह के बारे में कहा कि अपारंपरिक गेंदबाजी एक्शन होने के बावजूद वह नैसर्गिक प्रतिभा का धनी है। उसकी गेंदें सटीक होती है और वनडे में उसका प्रदर्शन अच्छा रहा। वैसे वनडे से टेस्ट क्रिकेट के लिए स्टेमिना बनाने में मदद नहीं मिलती जहां दिन के 25 ओवर डालने होते हैं। 

विलियमसन मैकुलम से अच्छे कप्तान

Image result for kane williamson test punjab kesari sports

टर्नर ने केन विलियमसन को अच्छा कप्तान बताते हुए कहा कि ब्रेंडन मैकुलम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कप्तानी के योग्य नहीं थे जबकि स्टीफन फ्लेमिंग के कार्यकाल में खिलाड़ी अधिक ताकतवर हो गए। उन्होंने कहा कि केन का रवैया पारंपरिक है। मुझे उसका रवैया पसंद है और वह काफी स्थिर है। उसमें दबाव में बेहतर प्रदर्शन करने और कराने का हुनर है।

.
.
.
.
.