Sports

स्पोर्ट्स डेस्क(राहुल): भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर शिखर धवन आज यानि की 5 दिसंबर को अपना 33वां जन्मदिन मना रहे हैं। 1985 को जन्में धवन दिल्ली में पंजाबी जाट परिवार से संबंध रखते हैं। टीम के खिलाड़ी आैर फैंस उन्हें ज्यादातर 'गब्बर' नाम से ही पुकारते हैं। लेकिन शायद फैंस यह नहीं जानते होंगे कि आखिर उन्हें 'गब्बर' नाम किसने दिया। हालांकि, धवन ने एक एक कॉमेडी शो के दौरान उन्होंने खुद को गब्बर कहे जाने का राज खोला था। 

धवन ने बताया कि पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज विजय दहिया ने उन्हें गब्बर कहा था। इसके पीछे की कहानी यह है कि एक रणजी मैच में धवन सिली प्वाइंट पर फील्डिंग कर रहे थे। सामने वाली टीम के बल्लेबाजों ने अच्छी साझेदारी कर ली थी। दिल्ली की टीम के हौसले पस्त नजर आ रहे थे। तब धवन को लगा कि टीम का उत्साह लौटाना जरूरी है ताकि वह पूरा जोर लगाकर खेलें और विकेट निकाले।
shikhar dhawan image

... और बन गए साथियों के लिए गब्बर

धवन ने बताया, " जब मैंने साथी खिलड़ियों को हताश देखा तो उन्हें प्रोत्साहित करने की सोची। और शोले फिल्म के गब्बर सिंह के डायलॉग बोले। इससे साथी तो रिफ्रेश होकर मैदान में दुरुस्त हो गए, मगर मुझे हमेशा के लिए गब्बर बना दिया।"

शादीशुदी लड़की ने बदली जिंदगी

धवन के क्रिकेट के प्रति क्रेज बचपन से ही था जिस कारण उनके पिता ने उनका क्रिकेट एकेडमी में दाखिला करवाया। धवन का नाम शिखर पर तब आया जब बांग्लादेश में हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप में उन्होंने 3 शतक लगाकर सबसे ज्यादा रन बनाने का खिताब हासिल किया।क्रिकेट छोड़ने का बना लिया था मन अंडर 19 में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद भी टीम इंडिया में जगह नहीं मिलने के कारण धवन काफी निराश थे और क्रिकेट छोड़ने का मन बना चुके थे। लेकिन तभी धवन की मुलाकात फेसबुक पर आयशा से हुई।
Dhawan and his wife image

आयशा बंगाली लड़की थी और वह शादीशुदा थी, साथ ही उसके दो बच्चे भी थे। अक्तूबर 2012 में धवन और आयशा की शादी हो गई और इसके बाद ही धवन की जिदंगी बदल गई। 2013 की शुरुआत में टीम इंडिया के दो धुरंधर गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग खराब फॉर्म के कारण ड्रॉप हो गए थे। टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज के लिए ओपनर की जरूरत थी और सेलेक्टर्स ने धवन को एक मौका देने के बारे विचार किया बस इसके धवन ने पीछे मुड़कर नहीं देखा।  

जट्ट स्टाइल में जश्न बनाने का भी है एक राज

कैच लपकने या फिर शतक लगाने के बाद धवन जट्ट स्टाइल में जश्न मनाते हैं। वह ऐसा स्टाइल क्यों दिखाते हैं, इसके पीछे भी एक राज है। दरअसल, धवन ने बताया था कि उन्हें कबड्डी बेहद पसंद है। कबड्डी में जब कोई अंक हासिल करता है तो अपना दम दिखाने के लिए जांघ पर ताल जरूर ठोंकता है। यह धवन को बहुत पसंद आया और उन्होंने क्रिकेट में इस तरह जश्न मनाना शुरू कर दिया।
dhawan image

धवन की उपलब्धियां-

- किसी भी टेस्ट मैच के पहले दिन पहली पारी में लंच से पहले शतक लगाने वाले इकलाैते भारतीय
 - बताैर भारतीय वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 1000, 2000 और 3000 रन
- वनडे क्रिकेट में भारतीय खिलाड़ी के तौर पर उन्होंने सबसे तेज 1000, 2000 और 3000 रन पूरे किए।
- आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2013 और 2017 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज
- आइसीसी विश्व कप 2015 में वो भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज  
- आइसीसी टूर्नामेंट में सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले
- साल 2018 में टी20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा 689 रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। 

 

 

.
.
.
.
.