Sports

ढाका : बांग्लादेश के हरफनमौला शाकिब अल हसन ने कहा कि एक साल का प्रतिबंध उनके लिए अच्छा ही रहा और कुछ दिन बाद क्रिकेट के मैदान पर वापसी होने पर वह अपने साथी खिलाड़ियों के हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार हैं। शाकिब पर पिछले साल 29 अक्टूबर को आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई ने दो साल (एक साल निलंबित) का प्रतिबंध लगाया था चूंकि उन्होंने एक भारतीय सटोरिये द्वारा संपर्क किए जाने की जानकारी नहीं दी थी।

शाकिब ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर डाले एक वीडियो में कहा, ‘उस प्रतिबंध से मुझे कई मायने में मदद मिली। मेरे लिए कई दरवाजे खुल गए और अब मैं जिंदगी के बारे में अलग तरीके से सोच सकता हूं। यह अभिशाप में वरदान साबित हुआ। मुझे इसका कोई खेद नहीं है।' उन्होंने कहा, ‘इस तरह के हालात से निकलकर इंसान और परिपक्व हो जाता है। अब मैं पहले से अलग सोच सकता हूं जिससे मुझे काफी मदद मिलेगी।' 

शाकिब का 9 और 10 नवंबर को फिटनेस टेस्ट होगा। इसके बाद वह बंगबंधु टी20 टूर्नामेंट खेलेंगे। यह पूछने पर कि क्या साथी खिलाड़ी पर पर संदेह करेंगे, उन्होंने कहा, ‘यह कठिन सवाल है क्योंकि मुझे नहीं पता कि कौन क्या सोच रहा है। वे मुझ पर अविश्वास कर सकते हैं लेकिन मेरी सभी से बात हुई है और मुझे ऐसा नहीं लगा। मैं उनके हर सवाल का जवाब देने के लिये तैयार हूं।' 

.
.
.
.
.