Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष और भारतयी टीम के पूर्व कप्तान सौराव गांगुली ने कुछ खिलाड़ियों को अपनी कप्तानी में काफी सपोर्ट किया। जिसमें युवराज सिंह से लेकर हरभजन सिंह ने नाम शामिल है। लेकिन टीम के तेज गेंदबाज रहे इरफान पठान का मानना है कि गांगुली जानते थे कि उन्हें किस प्लेयर्स को समर्थन देना है या नहीं। 

PunjabKesari
इरफान पठान ने क्रिकेट चैनल से बातचीत के दौरान कहा, 'सौरव गांगुली जानते थे कि उन्हें किस खिलाड़ी को सपोर्ट करना है। वह अच्छी टीम बनाने में यकीन रखते थे। मुझे याद है कि युवराज सिंह अपने करियर को शुरू करने के लिए संघर्ष कर रहे थे। गांगुली ने उन्हें सपोर्ट किया।' पठान ने कहा, ''वह जानते थे कि किस खिलाड़ी को सपोर्ट करने से भविष्य में चीजें बेहतर हो सकती हैं। गांगुली की बात को युवराज सिंह ने सही साबित किया और वह टीम की कई जीतों के नायक रहे।'

PunjabKesari
इरफान पठान ने कहा, 'सौरव गांगुली ने केवल युवराज सिंह को ही नहीं, हरभजन सिंह और जहीर खान को भी सपोर्ट किया। गांगुली ने मुश्किल समय में भारतीय क्रिकेट को आगे बढ़ाया। इसलिए जब हम लीडर की बात करते हैं तो गांगुली का नाम आता है। वह खिलाड़ियों के लीडर थे। उनका एक ही एजेंडा था कि भारतीय क्रिकेट टीम बस आगे बढ़े।'

PunjabKesari
गौर हो कि इरफान के क्रिकेट करियर पर नजर डाले तो बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने 2003 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड ओवल में भारत 173 विकेट हासिल किए और 24 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 172 रन बनाये और 28 विकेट लिए। उन्होंने कराची मैच में सलमान बट, यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ को आउट करके हैट्रिक बनाई थी।

.
.
.
.
.