Sports

पुणे : पैट कमिंस हर गेंद को मैदान से बाहर भेजा चाहते थे लेकिन ऑस्ट्रेलिया के इस टेस्ट कप्तान ने स्वीकार किया है कि मुंबई इंडियन्स के खिलाफ कोलकाता नाइट राइडर्स के इंडियन प्रीमियर लीग मैच में 15 गेंद में नाबाद 56 रन की पारी खेलने के बाद वह किसी भी अन्य व्यक्ति से अधिक हैरान थे। मौजूदा युग में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में शामिल कमिंस ने सबसे तेज अर्धशतक के रिकॉर्ड की बराबरी करते हुए बुधवार को यहां नाइट राइडर्स को मुंबई पर पांच विकेट की आसान जीत दिलाई। 

कमिंस ने सिर्फ 14 गेंद में अर्धशतक बनाकर लोकेश राहुल के सबसे तेज आईपीएल अर्धशतक की बराबरी की जिससे नाइट राइडर्स ने 24 गेंद शेष रहते ही मुंबई के 162 रन के लक्ष्य को हासिल कर लिया। कमिंस ने मैच के बाद कहा, ‘मुझे लगता है कि उस पारी से मैं सबसे अधिक हैरान था। खुशी है कि मैंने वह पारी खेली। मैं गेंद के करीब आने पर बड़े शॉट खेलने के बारे में सोच रहा था।' 

उन्होंने कहा, ‘मैं जब बल्लेबाजी के लिए आया तो हमारी टीम मुश्किल में थी। इसलिए मैं स्पष्ट था कि मुझे बड़े शॉट खेलने हैं। मैं जब भी उसका (जसप्रीत बुमराह) सामना करता हूं तो जितना संभव हो उतना कड़ा प्रहार करने की कोशिश करता हूं और सौभाग्य से आज कुछ शॉट खेलने में सफल रहा।' केकेआर को एक समय जीत के लिए 30 गेंद में 35 रन की जरूरत थी लेकिन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से एक कमिंस ने सिर्फ छह गेंद में ही इतने रन बना दिए। उन्होंने अपनी पारी के दौरान छह छक्के और चार चौके लगाए। 

कमिंस ने वेंकटेश अय्यर (41 गेंद में नाबाद 50) के साथ 61 रन की अटूट साझेदारी करके नाइट राइडर्स को जीत दिलाई। उन्होंने कहा, ‘जब मैं बल्लेबाजी के लिए उतरा तो वैंकी खेल रहा था और अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था। मैंने सोचा कि अगर मैं कुछ शॉट खेल पाया तो दूसरे छोर पर उसका काम कुछ आसान हो जाएगा। मैंने छोटी बाउंड्री को निशाना बनाया। मैं असल में प्रत्येक गेंद पर चौका या छक्का जड़ने की कोशिश कर रहा था।' 
 

.
.
.
.
.