Cricket

स्पोर्ट्स डेस्क (राहुल): भारतीय क्रिकेट टीम को आज ही के दिन (15 नवंबर) सचिन तेंदुलकर के रूप में ऐसा खिलाड़ी मिला था, जिसने दुनियाभर से वाहवाही लूटी। सचिन ने इस दिन पाकिस्तान के खिलाफ 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ पहला टेस्ट खेला था। हालांकि, वह सस्ते में आउट हो गए, लेकिन इसके बाद उन्होंने इस फाॅॅर्मेट में ऐसे 2 बड़े रिकाॅर्ड बना लिए जिनका टूटना मुश्किल है।

मात्र 15 रन बनाकर लाैटे पवेलियन
sachin tendulkar test debut image

कराची स्टेडियम में सचिन पाकिस्तान के खिलाफ पहला टेस्ट खेलने उतरे। जब वह मैदान पर आए तो उनकी उम्र महज 16 साल थी। उन्हें देख सब हैरान थे कि इतनी छोटी उम्र का बच्चा तेज गेंदबाजों का कैसा सामना करेगा। सचिन पहली पारी में 24 गेंदों का सामना करके 15 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें वकार यूनिस ने आउट किया। यह मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ था। पाकिस्तान ने पहली पारी में 409 आैर भारत ने 262 रन बनाए। दूसरी पारी में 305 रनों पर पारी घोषित की आैर भारत को 453 रनों का लक्ष्य दिया। लगा कि भारत हार जाएगा, लेकिन संजय मांजरेकर के नाबाद 113 आैर नवजोत सिद्धू के 85 रनों की बदाैलत भारत के आखिरी दिन तक 3 विकेट पर 303 बन गए आैर पाकिस्तान जीतने से चूक गया।

फिर बन गए कभी ना टूटने वाले 2 रिकाॅर्ड

सचिन भले ही पहले टेस्ट में कमाल ना दिखा पाए, लेकिन इसके बाद उन्होंने जो किया, उससे हर कोई वाकिफ है। सचिन ने 200 मैच खेले। इस दाैरान उन्होंने 53.79 की आैसत से 15,921 रन बनाए हैं, जो किसी बल्लेबाज द्वारा टेस्ट में बनाए गए सबसे ज्यादा रन हैं। उनके इस रिकाॅर्ड को तोड़ना किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं है। यहां तक कि माैजूदा समय में कोई भी खिलाड़ी उनके आसपास टिकता नजर नहीं आ रहा। 
sachin tendulkar image

वहीं, दूसरा रिकाॅर्ड है शतकों का है। सचिन टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उनके बल्ले से 51 शतक निकले हैं आैर उनके इस गजब के रिकाॅर्ड को तोड़ पाना भी किसी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं है। उनके बाद साउथ अफ्रीका के जैस कैलिस ही हैं जो 45 शतक बना पाए। वहीं, माैजूदा समय में हाशिम अमला 28 आैर विराट कोहली 24 शतक लगा चुके हैं, लेकिन सचिन के शतकों का रिकाॅर्ड तोड़ पाना इनक लिए भी आसान नहीं होगा। 

सरजमीं पर बनाए ज्यादा रन
sachin tendulkar image

5 फुट 5 इंच के सचिन ने अपनी सरजमीं पर 103 मैच खेलकर 54.75 की आैसत से 8705 रन बनाए, जिसमें 29 शतक आैर 36 अर्धशतक लगाए। वहीं, विदेशी धरती पर भी मास्टर ब्लास्टर का बल्ला खूब गरजा है। उन्होंने बाहरी पिचों पर खेले 94 मैचों में 52.67 आैसत से 7216 रन बनाए, जिसमें 22 शतक आैर 32 अर्धशतक भी रहे। 

 

.
.
.
.
.