Sports

कोलकाता: भारत के लीजेंड फुटबॉलर चुन्नी गोस्वामी का गुरुवार को निधन हो गया। वह 82 वर्ष के थे। चुन्नी गोस्वामी पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। उनका नाम सुबिमल गोस्वामी था लेकिन वह चुन्नी गोस्वामी के नाम से ज्यादा मशहूर थे। वह बेहतरीन फुटबॉलर होने के साथ-साथ अच्छे क्रिकेटर भी थे। उनका जन्म 15 जनवरी 1938 को अविभाजित बंगाल के किशोरगंज जिले (अब बंगलादेश) में हुआ था।  

वह 1962 के एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले भारतीय फ़ुटबाल टीम के कप्तान थे। स्ट्राइकर पोजीशन में खेलने वाले गोस्वामी ने भारत के लिए 43 मैच खेले और नौ गोल किए। उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट टूर्नामेंटों में बंगाल का प्रतिनिधित्व किया था और अपनी कप्तानी में बंगाल टीम को रणजी ट्रॉफी के फ़ाइनल तक पहुंचाया था। उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 1592 रन बनाने के अलावा 47 विकेट लिए। 

गोस्वामी ने ओलम्पिक, एशियाई खेल, एशिया कप और मड्रोका कप में भारत का प्रतिनिधित्व किया। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) सहित खेल जगत ने इस दिग्गज फुटबॉलर के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। चुन्नी गोस्वामी पिछले कई महीनों से बीमार थे। उन्हें शुगर, प्रोस्टेट और नर्व समस्याएं थीं और लगातार उनका इलाज चल रहा था। उनके परिवार ने पुष्टि की कि उन्हें शहर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्होंने शाम पांच बजे अपनी अंतिम सांस ली।

.
.
.
.
.