Sports

खेल डैस्क : विराट कोहली ने टी-20 में बतौर कप्तान अपना आखिरी मैच दुबई के मैदान पर नामीबिया के खिलाफ खेला जिसे टीम इंडिया ने 9 विकेट से जीत लिया। कप्तानी छोडऩे पर मैच खत्म होने के बाद विराट कोहली ने लंबी बात की। उन्होंने कहा कि सबसे पहले मुझे राहत मिली है। यह एक सम्मान की बात है लेकिन चीजों को सही क्रम में रखने की जरूरत है। मुझे लगता है कि मेरे वर्कलोड को सही करने का यह सबसे बढिय़ा तरीका है। छह-सात साल से मैं लगातार खेल रहा था। इस दौरान बहुत दबाव देखा।

Match Another News 

रोहित शर्मा के टी-20 में 3000 रन पूरे, सिर्फ ये 2 बल्लेबाज ही हैं आगे

रवि शास्त्री-विराट कोहली की जोड़ी ने कौन सी ऐतिहासिक सीरीज जीती हैं, जानिए

कोहली ने कहा कि लोग शानदार रहे हैं, मुझे पता है कि हमें यहां वह परिणाम नहीं मिले हैं जो कि हम चाहते थे। लेकिन वास्तव में हमने यहां कुछ अच्छा क्रिकेट खेला। लोगों ने मेरा काम आसान कर दिया। जिस तरह से हमने पिछले 3 मैच खेले, वह इन दिनों हाशिए का खेल है- टी-20 क्रिकेट। शीर्ष पर आक्रमण करने वाले क्रिकेट के दो ओवर वह है जो हम पहले 2 मैचों में याद कर रहे थे। जैसा कि मैंने कहा- हम उन खेलों में पर्याप्त बहादुर नहीं थे और जिस समूह में हम थे, वह कठिन था।

वहीं, मैच के दौरान अपने स्थान तीन नंबर पर बल्लेबाजी न करने की कुर्बानी देने पर कोहली ने कहा कि इस विश्व कप में हमारे बल्लेबाजी सूर्यकुमार को ज्यादा समय नहीं मिला था। इसलिए मैंने सोचा कि यंग प्लेयरों को आगे बढ़ाने के लिए मैं इतना तो कर ही सकता हूं। इसलिए मैंने यह फैसला लिया। 

Match Another News 

विराट कोहली के बतौर कप्तान 50 T20i मैच पूरे, कही यह महत्वपूर्ण बात

कोचिंग कार्य पर बोले रवि शास्त्री-  मैं मानसिक रूप से थका हुआ हूं

कोहली ने कहा कि रवि शास्त्री और उनके सहयोगी स्टाफ का बहुत-बहुत धन्यवाद। उन्होंने पिछले कुछ वर्षों में बहुत अच्छा काम किया है, जिससे खिलाडिय़ों के लिए ऐसा अद्भुत वातावरण तैयार हुआ। लोग इस माहौल में वापस आना पसंद करते थे। उन्होंने वास्तव में बहुत अच्छा काम किया। वहीं, अपनी आक्रामकता में कप्तानी छोडऩे पर बदलाव के बारे में पूछने पर कोहली ने कहा कि नहीं, यह कभी नहीं बदलने वाली। जिस दिन ऐसा होगा, मैं क्रिकेट खेलना बंद कर दूंगा। कप्तान बनने से पहले भी, मैंने हमेशा किसी न किसी तरह से योगदान देना पसंद किया है।

.
.
.
.
.