Sports

मुंबई : कर्नाटक के कप्तान करुण नायर ने कहा कि मयंक अग्रवाल को पिछले कई वर्षों की लगातार कड़ी मेहनत के कारण भारतीय टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में सफलता मिली है और मुंबई के खिलाफ रणजी ट्राफी मैच में अनुपस्थिति से अन्य खिलाड़ियों को खुद को साबित करने का मौका मिलेगा। कर्नाटक को मयंक की सेवाएं नहीं मिल पाएंगी क्योंकि उन्हें भारत ए टीम के साथ दस जनवरी को न्यूजीलैंड दौरे पर जाना है और बीसीसीआई ने उन्हें आगामी रणजी मैच से बाहर रखने का आग्रह किया है।

भारत की तरफ से छह टेस्ट मैच खेलने वाले नायर ने कहा, ‘मयंक बड़ा खिलाड़ी है, लेकिन उनकी अनुपस्थिति से किसी अन्य को खुद को साबित करने का मौका मिलेगा।' मयंक ने अपने छोटे से करियर में अब तक टेस्ट क्रिकेट में 2 दोहरे शतक लगाए हैं और शुरू से उनके करियर पर नजर रखने वाले नायर ने उनकी जमकर तारीफ की। नायर ने कहा, ‘मयंक शुरू से ही कड़ी मेहनत करने वाला खिलाड़ी रहा है, इसलिए यह समय है जबकि उसे अपनी मेहनत का फल मिल रहा है।' 

.
.
.
.
.