Sports

चेन्नई : इंग्लैंड के स्पिनर जैक लीच ने तीसरे अंपायर के फैसले की गलती का सामना करने के बाद फैसला समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) की तुलना फुटबॉल में होने वाले वीडियो असिस्टेंट रेफरी (वीएआर) से करते हुए कहा कि यह अब भी ‘विवादास्पद है’’। यह घटना दिन के 75वें ओवर में हुई जब जैक लीच की गेंद रहाणे के ग्लव्ज को छूती हुई फारवर्ड शार्ट लेग क्षेत्ररक्षक ओली पोप के हाथ में चली गयी।

इंग्लैंड ने अपील की लेकिन मैदानी अंपायर ने इसे ठुकरा दिया और तीसरे अंपायर अनिल चौधरी ने यह सोचकर रिव्यू खारिज कर दिया कि गेंद लेग स्टंप के बाहर गयी थी और मेहमान टीम ने पगबाधा की अपील की थी। लीच ने कहा कि हम तीसरे अंपायर को गेंद के एक्शन को देखे, वे पगबाधा देख रहे थे, हमें पता था कि वह इस तरह (पगबाधा) आउट नहीं होगा। हम यह चाहते थे कि वह पैड से टकराने के बाद गेंद को देखे।

उन्होंने कहा कि यह आज थोड़ा वीएआर की तरह लगा, यह विवादास्पद है, लेकिन यह ऐसा ही है। हालांकि इंग्लैंड ने स्पष्ट किया कि वे ग्लव्ज से छूकर गयी गेंद के कैच होने की अपील कर रहे हैं, बल्ले से छूने की नहीं। रहाणे हालांकि बाद में छह गेंद बाद आउट हो गये, उन्हें मोईन अली ने 67 रन पर बोल्ड किया। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट तीसरे अंपायर अनिल चौधरी की भूल से काफी खिन्न हो गये जिसके कारण उन्हें भारतीय उप कप्तान अजिंक्य रहाणे का विकेट नहीं मिल सका और एक डीआरएस रिव्यू भी चला गया।

बड़ी स्क्रीन पर रिप्ले देखकर रूट काफी निराश हो गये और कप्तान ने यह मामला मैदानी अंपायरों के समक्ष उठाया। चौधरी के ठुकराने से इंग्लैंड ने एक रिव्यू भी गंवा दिया था। लेकिन बाद में आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) के खेलने के नियम 3.6.8 के अंतर्गत इंग्लैंड का यह रिव्यू बहाल कर दिया गया। उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि वे देख रहे थे, वे कैच आउट को भी देखेंगे लेकिन फिर पगबाधा देखने लगे, हम कुछ और देखना चाहते थे लेकिन उन्होंने उस चीज को देखा ही नही। यह ऐसी चीज है जिसमें हम कुछ नहीं कर सकते थे, लेकिन हम निराश थे। अगले ही ओवर में हालांकि का विकेट गिरने से थोड़ी राहत मिली।

रोहित शर्मा के स्टंप्स का फैसला भी इंग्लैंड के खिलाफ गया। लीच ने कहा कि बेन फोक्स को भी संदेह था कि वह आउट है और जब हमने देखा तो हमें भी उम्मीद थी की फैसला हमारे पक्ष में रहेगा। दिन के खेल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए मुश्किल दिन था, हमें कल धैर्य से खेलना होगा। दिन (शनिवार) के आखिर में हमें कुछ विकेट मिले जो अच्छा रहा। नयी गेंद से कल सुबह हम कुछ विकेट झटक सकते हैं। आपने देखा कि रोहित शर्मा और अजिक्य रहाणे जब क्रीज पर जम गये तब आसानी से रन बनाने लगे। हमें उम्मीद है कि हमारे बल्लेबाज भी ऐसा करेंगे।


 

.
.
.
.
.