Sports

पोर्ट आफ स्पेन: भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने कहा है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान उनके दिमाग में रन बनाने से रोकना था, विकेट चटकाना नहीं क्योंकि उनका मानना है कि विंडीज के खिलाफ किफायती गेंदबाजी का फायदा हमेशा मिलता है। 

PunjabKesari
भुवनेश्वर ने मैच के बाद कहा, ‘जब मैं गेंदबाजी के लिए आया तो सिर्फ इतना सोच रहा था कि मुझे किफायती गेंदबाजी करनी है, अधिक खाली गेंद फेंकनी हैं। मुझे लगता है कि अगर आप किफायती गेंदबाजी करोगे तो विकेट अपने आप मिलेंगे। मैं नतीजे के बारे में अधिक नहीं सोचता क्योंकि हमें पता है कि अगर हम एक या दो विकेट चटकाएंगे तो मैच में वापसी कर लेंगे।' 

PunjabKesari
भुवनेश्वर ने आगे कहा, ‘आप विराट के हावभाव से देख सकते हैं कि उसे इस शतक की कितनी जरूरत थी। इसलिए नहीं कि वह फार्म में नहीं था बल्कि इसलिए क्योंकि वह 70 और 80 रन के स्कोर पर आउट हो रहा था और उसे हमेशा से बड़ी पारियां खेलने के लिए जाना जाता है।' कोहली ने अपना पिछला शतक आस्ट्रेलिया के खिलाफ मार्च में बनाया था। उन्होंने इसके बाद विश्व कप में पांच अर्धशतक लगाए लेकिन शतक बनाने में विफल रहे। 

.
.
.
.
.