Sports

अबु धाबी : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के मुख्य कोच साइमन कैटिच ने स्वीकार किया है कि 10वें मैच के बाद उनके बल्लेबाज उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए जिसके कारण उनकी टीम इंडियन प्रीमियर लीग के प्लेऑफ से बाहर हो गई। बेंगलोर की टीम को बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन के कारण शुक्रवार को आईपीएल एलिमिनेटर में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ छह विकेट से हार का सामना करना पड़ा। 

कैटिच ने मैच के बाद कहा, ‘हमें लगता है कि अंतिम चार मुकाबलों से पहले, 10वें मैच तक हम सही राह पर थे। प्रदर्शन को देखें तो शायद बल्ले से हम उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए और टूर्नामेंट में काफी अच्छी शुरुआत के बाद इस विभाग में संभवत: हम पिछड़ गए।' कैटिच ने सनराइजर्स हैदराबाद के बल्लेबाजों को पूरा श्रेय दिया जिन्होंने उनकी टीम को कम स्कोर पर रोका। 

उन्होंने कहा, ‘सनराइजर्स को श्रेय जाता है, उन्होंने हमें काफी अच्छी तरह रोका और इसके बाद हम पीछा ही करते रहे। हमारा मानना था अगर हम 150 रन बनाते हैं तो टीम में दो लेग स्पिनरों (युजवेंद्र चहल और एडम जंपा) के साथ हमारे पास मौका हो सकता था।' ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा, ‘विकेट धीमा था और थोड़ा टर्न मिल रहा था। सिर्फ 130 रन बनाना निराशाजनक था।' 

एलिमिनेटर में कप्तान विराट कोहली ने पारी का आगाज किया और कैटिच से पूछा गया कि क्या संयोजन में काफी अधिक बदलाव के कारण टीम को नुकसान हुए तो उन्होंने कहा, ‘देखिये काफी बदलाव नहीं हुए, आरोन फिंच को 11वें मैच तक बाहर नहीं किया गया। तय संयोजन की बात करें तो पहले 10 मैचों में हमने ऐसा किया लेकिन दुर्भाग्य से फिंच उम्मीद के मुताबिक रन नहीं बना पाया।' 

उन्होंने कहा, ‘जोश फिलिप आया, उसे मौका मिला और प्ले आफ से पहले हमने सोचा कि विराट कोहली पारी का आगाज करेगा और दुर्भाग्य से यह कामयाब नहीं हुआ। अतीत की तरह हमने काफी बदलाव नहीं किए और हमने जो बदलाव किए वह फॉर्म के कारण करने पड़े।' कैटिच ने युवा देवदत्त पड्डिकल की भी जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने पहले आईपीएल सत्र में लगभग 500 रन बनाए। 

.
.
.
.
.