Sports

फातोर्दा : बीते साल फाइनल खेलने वाले एफसी गोवा को बुधवार को अपने घर में दो बार के चैम्पियन चेन्नइयन एफसी के खिलाफ खेलते हुए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के छठे सीजन में अपने अभियान का आगाज करना है। गौर्स नाम से मशहूर यह टीम नए सीजन की शुरुआत जीत के साथ करना चाहेगी। 

चेन्नइयन एफसी ने चौथे सीजन का खिताब जीता था लेकिन पांचवें सीजन में वह अंक तालिका में अंतिम स्थान पर रही थी। अब यह टीम हालांकि नई सरंचना में सबके सामने है। यह टीम यह साबित करने के लिए बेताब है कि बीता सीजन उनकी काबिलियत की कहानी हरगिज नहीं कहता। मजेदार बात यह है कि दोनों टीमों के मैनेजर सर्गियो लोबेरा और जॉन ग्रेगरी अपने-अपने क्लबों के साथ लीग में तीसरे सीजन में प्रवेश कर चुके हैं। गोवा ने लीग में हमेशा से स्थिर प्रदर्शन किया है और यही कारण है कि उसके सभी देशी और विदेशी खिलाड़ी आज उसके साथ हैं। 

फेरान कोरोमिनास, हुगो बाउमोस, अहमद जाहो और इदु बेदिया गोवा के साथ तीसरे सीजन में खेल रहे हैं। मंडार राव देसाई, शेरिटन फर्नांडिस, लेनी रोड्रिग्ज, जैकीचंद सिंह के रूप में उसके पास स्तरीय भारतीय खिलाड़ी हैं जो लोबेरा की खेल की शैली से अच्छी तरह वाकिफ हैं। लोबेरा ने कहा, ‘मैच से पहले की तैयारी शानदार है। हमारी टीम अच्छी स्थिति में है। हमारा हर खिलाड़ी बेहतरीन पेशेवर है। मैं प्री सीजन से खुश हूं लेकिन मेरे लिए पहला मैच काफी अहम है। हम अच्छा खेल दिखाएंगे और तीन अंक लेने का पूरा प्रयास करेंगे।' 

दूसरी ओर, चेन्नइयन एफसी ने बीते सीजन में खराब प्रदर्शन के बाद खुद को नए सिरे से खड़ा किया है। जॉन ग्रेगरी ने अपनी विदेशी खिलाड़ियों की फौज को पूरी तरह बदल दिया है। छह विदेशी खिलाड़ियों में एली साबिया ही ऐसे हैं, जो पुराने हैं। यहां तक कि भारतीय खिलाड़ियों को भी बदल दिया गया है। विशाल कैथ, लालियाजुआला चांग्ते, एडविन वैन्सपॉल औ्र रहीम अली अब ग्रेगरी की टीम में हैं। 

ग्रेगरी ने कहा, ‘हम बिल्कुल ब्रैंड न्यू टीम हैं। बीते सीजन में हमारे पास सात विदेशी खिलाड़ी थे। हमने छह को बदल दिया। हम अपने घरेलू खिलाड़ियों से खुश हैं। अब हम नए सीजन में नई तैयारी के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं। हम सीजन-4 की सफलता को दोहराना चाहते हैं।' ग्रेगरी ने कहा कि उन्हें आशा है कि उनकी नई नवेली टीम 2017-18 सीजन की अपनी मनोदशा को फिर से पाएगी और फिर से खिताब तक पहुंचेगी जबकि लोबेरा अपनी टीम के साथ बीते सीजन में खिताब से एक कदम दूर रहने के बाद अब एक बार फिर ट्रॉफी तक पहुंचना चाहेंगे। 

.
.
.
.
.