Sports

नई दिल्ली : मैनचैस्टर के मैदान पर इंगलैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में अपनी टीम को शतक लगाकर जीत दिलाने वाले ऑस्ट्रेलियाई ऑलराऊंडर ग्लेन मैक्सवेल ने मैच के बाद कहा- उनके पास हारने के लिए कुछ नहीं था। इसलिए उन्होंने सोचा कि इंगलैंड टीम पर दबाव डाला जाए। मुझे लगा कि मैं अपने बल्ले की स्विंग से छोटी सीमा वाले इस मैदान पर अच्छा प्रदर्शन कर सकता हूं। एलेक्स के साथ जोरदार साझेदारी थी। 

ENG vs AUS, Glenn Maxwell, Big statement, England vs Australia, Australia tour of England 2020, cricket news in hindi, sports news

मैक्सवेल ने कहा कि मुझे पता था कि एक बार जब मैं मैदान पर उतरूंगा तो वे मेरे लिए थोड़ा अलग गेंदबाजी करेंगे। मैंने सिर्फ ढीली गेंदों को भुनाने की कोशिश की। मुझे लगता है कि 5-73 स्कोर  आना चिंता में डालता है अगर हम अगले पांच या 10 ओवरों में एक और विकेट गंवा देते तो हमारे लिए काफी मुश्किल होने वाली थी। इसलिए हम साझेदारी की ओर हो गए। 

मैक्सवेल ने कैरी के साथ 200+ पार्टनरशिप पर भी बात की। उन्होंने कहा- मैंने वास्तव में साझेदारी का आनंद लिया था। कैरी ने अपना पहला एकदिवसीय शतक लगाया। यह काफी अच्छा है। वह आसपास रहने वाले महान लोगों में से एक है, मैं उसे हर दिन देखता हूं, वह मुस्कुराता रहता है। उसे देखने के लिए दूसरे छोर पर खड़ा होना बेहद खास था।

ENG vs AUS, Glenn Maxwell, Big statement, England vs Australia, Australia tour of England 2020, cricket news in hindi, sports news

बता दें कि मैक्सवेल और कैरी ने छठे विकेट के लिए 204 रन की साझेदारी की। ऐसा कर उन्होंने माइकल हसी और ब्रैड हैडिन के बीच 2006 में वेस्टइंडीज के खिलाफ निभाई गई 165 रनों की साझेदारी का ऑस्ट्रेलियाई रिकॉर्ड तोड़ दिया। 

.
.
.
.
.