Sports

दुबई : भारतीय कप्तान विराट कोहली और सीमित ओवरों की टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा के बीच मतभेद की अटकलों को खारिज करने की कोशिश करते हुए मुख्य को रवि शास्त्री ने कहा कि नजरिये में अंतर को मतभेद के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। पहले भी दोनों सीनियर खिलाड़ियों के बीच कथित मतभेद की खबरों को बकवास करार दे चुके शास्त्री से एक बार फिर इस बारे में पूछा गया था।

शास्त्री ने से कहा, ‘टीम में जब 15 खिलाड़ी होते हैं तो हमेशा ऐसा समय आता है जब नजरियों में भिन्नता होती है। इसी की जरूरत है। मैं नहीं चाहता कि सभी एक ही बात बोलें।' उन्होंने कहा, ‘चर्चाएं होनी चाहिए और तभी कोई किसी नई रणनीति के बारे में सोच सकता है जिसे बढ़ावा दिया जाना चाहिए। इसलिए आपको खिलाड़ियों को खुद को अभिव्यक्त करने का मौका देना होगा और फिर फैसला करना होगा कि क्या सर्वश्रेष्ठ है।' 

शास्त्री ने कहा, ‘कभी-कभी यह टीम का सबसे जूनियर खिलाड़ी हो सकता है जो ऐसी रणनीति सामने रख सकता है जिसके बारे में हमने सोचा भी नहीं हो और हमें इस पर विचार करने की जरूरत है। इसलिए इसे मतभेद के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।' भारतीय टीम के कैरेबियाई दौरे पर रवाना होने से पहले भी कोहली ने मतभेद की खबरों को खारिज किया था। टी20 विश्व कप 2021 तक पुन: भारतीय टीम के कोच नियुक्त किए गए शास्त्री ने कहा कि अगर कोहली के साथ गंभीर मतभेद होते तो रोहित विश्व कप में पांच शतक नहीं जड़ पाता।

शास्त्री ने कहा, ‘मैं पिछले पांच साल से ड्रेसिंग रूम का हिस्सा हूं। मैंने देखा है कि लड़के कैसे खेल रहे हैं और वे कैसे टीम को मजबूत बना रहे हैं और उन्हें अपने काम की नैतिकता का पता है। मुझे लगता है कि यह बिलकुल बकवास है।' उन्होंने कहा, ‘अगर ऐसा होता तो रोहित विश्व कप में पांच शतक कैसे बनाता? विराट वह कैसे करता जो वह कर रहा है? वे एक साथ साझेदारी कैसे बनाते?' 

.
.
.
.
.