Sports

जालन्धर (जसमीत सिंह) : श्रीलंका के पूर्व तेज गेंदबाज चमिंडा वास 46 साल के हो गए हैं। श्रीलंका के वटाला में जन्मे वास के नाम पर क्रिकेट जगत के ढेरों रिकॉर्ड दर्ज हैं, जो आज तक नहीं टूटे। रोमन कैथेलिक परिवार में जन्मे चमिंडा वास जब छोटे थे तब वह बड़े होकर पादरी बनना चाहते थे। उनकी धर्म में अथाह आस्था थी। लेकिन धीरे-धीरे उन्हें अहसास हुआ कि वह क्रिकेट खेलने के लिए ही जन्मे हैं। वास ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा था कि जब वह स्कूल में थे तब पादरी बनने के लिए बेहद तत्पर थे। लेकिन बाद में उन्हें लगने लगा कि भगवान ने उन्हें सिर्फ क्रिकेट खेलने के लिए ही बनाया है। 

वनडे क्रिकेट के दो बड़े रिकॉर्ड आज भी उनके नाम
Birthday Boy : Chaminda Vaas wanted to be a pastor

चामिंडा वास ने श्रीलंका के लिए 111 टेस्ट के अलावा, 322 वनडे मैच खेले हैं। वनडे क्रिकेट में उनके नाम दो ऐसे बड़े रिकॉर्ड है जिनका टूटना बेहद मुश्किल है। उनका पहला रिकॉर्ड पहली ही ओवर में हैट्रिक लेने का था। 2001 में बांगलादेश के खिलाफ खेले गए उक्त मैच में वास ने पहले ही ओवर की पहली ही तीन गेंदों पर हैट्रिक ले ली थी। ऐसा आजतक कोई भी गेंदबाज नहीं कर पाया है। इसके अलावा वनडे क्रिकेट की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है। चामिंडा ने बांगलादेश के खिलाफ इसी मैच में महज 19 रन देकर 8 विकेट झटके थे। जो अभी तक रिकॉर्ड है। चामिंडा के कहर से उक्त मैच में बांगलादेश महज 38 रन पर ऑल आउट हो गई थी। श्रीलंका ने यह लक्ष्य एक विकेट खोकर हासिल कर लिया था। 

बल्ले से भी धमाल मचाते थे वास
Birthday Boy : Chaminda Vaas wanted to be a pastor

वास न सिर्फ बॉलिंग में अच्छे थे बल्कि जरूरत पडऩे पर अपनी टीम के लिए बल्ले से भी धमाल मचाते थे। 111 टेस्ट में उनके नाम पर 3089 रन दर्ज है। उनकी बल्लेबाजी औसत 24 रही। वह एक शतक तो 13 अर्धशतक भी लगा चुके हैं। इसी तरह 322 वनडे मैचों में उनके नाम पर 2025 रन दर्ज है। वह एक फिफ्टी भी लगा चुके हैं। वास को वनडे क्रिकेट के स्लोग ओवर में बड़े हिटर के तौर पर जाना जाता था। तेज गेंदबाजों को आखिरी ओवरों में वह लंबे हिट लगाने के लिए मशहूर होते थे।

चमिंडा वास का बॉलिंग रिकॉर्ड
111 टैस्ट, 355 विकेट, 5 विकेट 12 बार, मैच में 10 विकेट 2 बार, 7/71 सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी
322 वनडे, 400 विकेट, 5 विकेट 4 बार, 8/19 सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी

.
.
.
.
.