Sports

नई दिल्ली : संन्यास से वापसी करने वाले अनुभवी ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर पाल सिंह जकार्ता में 23 मई से एक जून तक होने वाले एशिया कप में भारत की दूसरे दर्जे की पुरुष हॉकी टीम की अगुवाई करेंगे। मनप्रीत सिंह, हरमनप्रीत सिंह और पीआर श्रीजेश जैसे वरिष्ठ खिलाड़ी इस टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगे। भारत ने टूर्नामेंट के लिए अपनी दूसरी श्रेणी की टीम चुनी है जिसमें बीरेंद्र लाकड़ा को रूपिंदर के साथ उप कप्तान बनाया गया है। 

रूपिंदर और लाकड़ा दोनों ने पिछले साल टोक्यो ओलंपिक खेलों के बाद संन्यास की घोषणा की थी लेकिन बाद में खुद को चयन के लिए उपलब्ध रखा था। एशिया कप विश्व कप का क्वालीफायर टूर्नामेंट है लेकिन मेजबान होने के नाते भारत को अगले साल जनवरी में होने वाले इस टूर्नामेंट में स्वत: प्रवेश मिला है। एशिया कप से शीर्ष तीन टीमें विश्व कप के लिये क्वालीफाई करेंगी। दो बार के ओलंपियन सरदार सिंह को टीम का कोच बनाया गया है। इस पूर्व कप्तान का कोच के रूप में यह पहला टूर्नामेंट होगा। 

भारत के अनुभवी प्लेमेकर एस वी सुनील ने भी संन्यास के बाद वापसी की है। वह टोक्यो ओलंपिक में चोट के कारण नहीं खेल सके थे। एशिया कप में भारत को जापान, पाकिस्तान और मेजबान इंडोनेशिया के साथ पूल ए में रखा गया है, जबकि मलेशिया, कोरिया, ओमान और बांग्लादेश पूल बी में हैं। टीम में कम से कम 10 खिलाड़ी ऐसे हैं जो सीनियर टीम में पदार्पण करेंगे। इनमें जूनियर विश्व कप खिलाड़ी यशदीप सिवाच, अभिषेक लाकड़ा, मनजीत, विष्णुकांत सिंह और उत्तम सिंह भी शामिल हैं। इनके अलावा टीम में मारीस्वरेन शक्तिवेल, शेष गौड़ा बीएम, पवन राजभर, आभरण सुदेव और एस कार्थी के रूप में नये चेहरे शामिल हैं। 

टीम में पंकज कुमार रजक और सूरज करकेरा के रूप में दो गोलकीपर हैं। रक्षापंक्ति की जिम्मेदारी रूपिंदर, यशदीप सिवाच, अभिषेक लाकड़ा, बीरेंद्र लाकड़ा, मंजीत, दीपसन टिर्की, विष्णुकांत सिंह, राजकुमार पाल, मरीस्वरेन शक्तिवेल, शेष गौड़ा बीएम और सिमरनजीत सिंह संभालेंगे। अग्रिम पंक्ति में पवन राजभर, अभारण सुदेव, एसवी सुनील, उत्तम सिंह और एस कार्थी शामिल हैं। 

कोच बीजे करियप्पा ने कहा, ‘टीम में अनुभवी और नए खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है, जिनमें से कई खिलाड़ी विभिन्न आयु वर्ग में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेले हैं लेकिन वे सीनियर टीम से नहीं खेले हैं।' उन्होंने कहा, ‘भारत मेजबान होने के कारण पहले ही विश्व कप के लिये क्वालीफाई कर चुका है, इसलिए यह हमारे लिये नये खिलाड़ियों को आजमाने का अच्छा मंच होगा।' सरदार ने कहा, ‘इस टीम में प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं जिन्हें मैंने टीम में जगह बनाने के लिये पिछले कुछ सप्ताह में कड़ी मेहनत करते देखा है। भारत के कोच के रूप में यह मेरा पहला टूर्नामेंट होगा और मैं इस नये अनुभव को लेकर उत्साहित हूं।' 

भारतीय टीम :
गोलकीपर : पंकज कुमार रजक, सूरज करकेरा
डिफेंडर : रूपिंदर पाल सिंह (कप्तान), यशदीप सिवाच, अभिषेक लाकड़ा, बीरेंद्र लाकड़ा, मंजीत, दीपसन टिर्की, विष्णुकांत सिंह, राजकुमार पाल, मरीस्वरेन शक्तिवेल, शेष गौड़ा बीएम और सिमरनजीत सिंह 
मिडफील्डर : विष्णुकांत सिंह, राज कुमार पाल, मारीस्वरेन एस, शेषे गौडा बीएम, सिमरनजीत सिंह 
फॉरवर्ड : पवन राजभर, अभारण सुदेव, एस वी सुनील, उत्तम सिंह, एस कार्ती
स्टैंडबाय : पवन, परदीप सिंह, अंकित पाल, अंगद बीर सिंह 

.
.
.
.
.