Sports

लंदन: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक ने अपनी आत्मकथा में खुलासा किया है कि आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने प्रथम श्रेणी मैच में गेंद को जल्दी खराब करने के लिए हाथ पर लगी पट्टी (स्ट्रैपिंग) का इस्तेमाल करने के बारे में उन्हें बताया था। कुक की पुस्तक ‘द आटोबायोग्राफी' का विमोचन गत पांच सितंबर को हुआ था। उन्होंने अपनी आत्मकथा में लिखा है कि वार्नर ने उन्हें इस घटना के बारे में तब बताया था जब आस्ट्रेलियाई टीम 2017-18 में एशेज श्रृंखला में जीत के बाद बीयर के साथ जश्न मना रही थी और इंग्लैंड के खिलाड़ी भी इसमें शामिल हुए थे। 

PunjabKesari
एक वेबसाइट के मुताबिक, कुक ने अपनी किताब में लिखा है, ‘डेविड वार्नर ने जश्न के दौरान बीयर पीते हुए बताया था कि उन्होंने प्रथम श्रेणी के मैच में गेंद को जल्दी खराब करने के लिए अपने हाथ की स्ट्रैपिंग से जुड़े पदार्थों का इस्तेमाल किया था।' कुक ने कहा कि उन्होंने उसके बाद आस्ट्रेलिया के तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ की तरफ देखा और स्मिथ ने कहा, ‘ओह, आपको यह नहीं बताना चाहिए था।' मार्च 2018 में केप टाउन टेस्ट के दौरान आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों द्वारा गेंद से छेड़छाड़ करने के लिए रेगमाल का उपयोग करने के बारे मे पूछे जाने पर कुक ने कहा कि स्मिथ की टीम ने तब हद पार कर दी थी। 

PunjabKesari
इंग्लैंड के लिए 161 टेस्ट में 33 शतक लगाने वाले इस खिलाड़ी ने कहाए ‘लेकिन यह ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए सबसे अच्छी बात है क्योंकि उन्हें एहसास हुआ कि इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। आस्ट्रेलियाई टीम ने किसी भी कीमत पर जीत की जो संस्कृति बनायी थी वह आस्ट्रेलिया की जनता भी नहीं चाहती।'

.
.
.
.
.