Sports
चेन्नई, चार फरवरी (भाषा) अपने करियर के शुरुआती दिनों में स्पिनरों का सामना करने के लिए स्वीप शॉट खेलने के कौशल में सुधार करने वाले इंग्लैंड के कप्तान जो रूट भारत के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रही चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला में अनुभवी रविचंद्रन अश्विन का सामना इसी तरीके से कर सकते है।

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ग्राहम गूच को एशियाई स्पिनरों के खिलाफ इस शॉट को शानदार तरीके से खेलने के लिए जाना जाता है। टीम के मौजूदा कप्तान रूट ने श्रीलंका की धीमी पिचों पर 228 और 186 रन की पारी खेल कर अपनी बादशाहत कायम की।

भारत के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के पहले मैच की पूर्व संध्या पर रूट ने बताया कि उन्होंने कैसे इस शॉट को खेलना शुरू किया था। रूट के साथ मौजूदा दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शामिल भारतीय कप्तान विराट कोहली और ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ स्वीप शॉट को ज्यादा खेलना पसंद नहीं करते है।

रूट ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ जब मैं कम उम्र का था तब दूसरों की तुलना में मेरा कद कम था, मेरा शारीरिक विकास देर से हुआ। स्पिनरों का सामना करने के लिए मुझे कोई तरीका इजात करना था और स्वीप ऐसा शॉट था जिसे मैं ताकत के साथ खेल पा रहा था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरे जूनियर करियर के दौरान यह रन बनाने का अच्छा विकल्प था। उसी समय से मैंने अपने खेल में सुधार किया है और कुछ शानदार खिलाड़ियों एवं कोचों के साथ इस पर काम किया है।’’

टेस्ट क्रिकेट में 8000 रनों के आंकड़े को पार करने वाले रूट ने कहा कि श्रीलंका के हालिया दौरे पर स्वीप ऐसा विकल्प था जिस में कम जोखिम था।

अश्विन का सामना करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘ मैं उनके खिलाफ हावी होकर या रक्षात्मक तरीके से खेलने से बचूंगा, गेंद का सामना वैसे ही करूंगा जिसका वह हकदार हो। अगर मैं कुछ समय के लिए पिच पर रहता हूं, तो मैं बड़ा स्कोर खड़ा कर सकता हूं। भारत में उनका रिकार्ड शानदार है और शायद इस श्रृंखला के लिए वह आत्मविश्वास से भरे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पहले भी उनका सामना किया है और उनके खिलाफ कुछ रन बनाये है। कई बार वह मुझ से बेहतर साबित हुए और टेस्ट मैच में यह छोटे मुकाबले की तरह होगा। ऐसा मुकाबला जिस में आप बेहतर करना चाहते है।’’

रूट हालांकि स्वीप शॉट खेलने में होने वाली जोखिक के बारे में जानते है।


उन्होंने कहा, ‘‘ मेरे लिए गेंद की लाइन-लेंग्थ के अलावा पिच को समझना के बारे में है। इस शॉट को खेलने में गेंद की उछाल और टर्न को समझना जरूरी है। इसे खेलने से पहले इन सब जोखिम के बारे में सोचना होता है।’’



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.