Sports
चेन्नई, तीन जनवरी (भाषा) अखिल भारतीय शतरंज महासंघ (एआईसीएफ) के ऑनलाइन चुनावों से एक दिन पहले रविवार को इसके निवर्तमान सचिव भरत सिंह चौहन ने मतदान की अखंडता और सुरक्षा पर चिंता जतायी है।
चौहान ने एआईसीएफ चुनाव अधिकारी के कन्नन को ई-मेल भेज कर निजी कंपनी द्वारा विकसित ऑनलाइन मतदान और मतगणना प्रणाली की अखंडता पर कई तरह की चिंताओं से अवगत कराया।

चौहान ने पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश कन्नन से अनुरोध किया कि वे ऑनलाइन वोटिंग रद्द करें और राष्ट्रीय खेल विकास संहिता 2011 के प्रावधानों के अनुसार चुनाव करवाये।

एआईसीएफ दो गुटों में विभाजित है, जिसमें अध्यक्ष पी आर वेंकटराम राजा और चौहान के बीच पिछले एक वर्ष से अधिक समय से विभिन्न मुद्दों पर मतभेद है।
चौहान ने आरोप लगाया, ‘‘वोटिंग डेटा की प्रमाणिकता के बिना इस बात की संभावना बहुत अधिक है कि अध्यक्ष वेंकटरम राजा जैसे चेन्नई के व्यवसायी अपने लाभ के लिए पूरी चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करेंगे।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.