Sports

लंदन : अमेरिका की एलिसन रिस्के ने विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप का सबसे बड़ा उलटफेर करते हुये नंबर एक खिलाड़ी और शीर्ष वरीय आस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी को सोमवार को तीन सेटों में 3-6, 6-2, 6-3 से हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। रिस्के ने यह मुकाबला एक घंटे 37 मिनट में जीतकर पहली बार विंबलडन के क्वाटर्रफाइनल में जगह बना ली। 29 वर्षीय रिस्के का किसी भी ग्रैंड स्लेम में यह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले तक वह 2013 में यूएस ओपन के चौथे राउंड में पहुंची थी।

फ्रेंच ओपन खिताब जीतने के बाद दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी बनी 23 वर्षीय बार्टी का टूर्नामेंट के चौथे दौर में पहुंचना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। वह पिछले साल तीसरे दौर में बाहर हुयी थीं और इस बार उन्हें चौथे दौर में बाहर हो जाना पड़ा। अमेरिकी खिलाड़ी ने इस मुकाबले में चार सर्विस ब्रेक हासिल किये और मैच में 30 विनर्स लगाये। बार्टी ने मैच में 25 बेजां भूलें और तीन डबल फाल्ट किये जिसका उन्हें नुकसान उठाना पड़ा। टूर्नामेंट में पूर्व नंबर एक और दूसरी सीड जापान की नाओमी ओसाका को पहले ही दौर में हार का सामना करना पड़ा। इस तरह विंबलडन में चौथे दौर तक शीर्ष दो खिलाड़यिों की छुट्टी हो चुकी है।

इस हार के साथ बार्टी के 15 मैचों के अपराजेय क्रम का अंत हो गया है। इस दौरान उन्होंने फ्रेंच ओपन के अलावा बर्मिंघम में खिताब जीते थे लेकिन विंबलडन में चौथे दौर में वह पहला सेट जीतने के बाद अपनी लय कायम नहीं रख सकीं और उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इस बीच आठवीं सीड यूक्रेन की एलीना स्वीतोलिना ने क्रोएशिया की पेत्रा माटिर्च को एक घंटे 49 मिनट में 6-4, 6-2 से, चेक गणराज्य की बारबोरा स्ट्राइकोवा ने बेल्जियम की एलिस मर्टेस को 4-6, 7-5, 6-2 से और चीन की शुआई झांग ने यूक्रेन की डायना यास्त्रेमस्का को एक घंटे 46 मिनट में 6-4, 1-6, 6-2 से हराकर क्वाटर्रफाइनल में प्रवेश कर लिया। 

.
.
.
.
.