Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : महान बल्लेबाज और पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने हाल ही मे एक परिचर्चा के दौरान कहा कि कोई भी शख्स किसी से भी सीख सकता है। उन्होंने बताया कि कैसे एक होटल के स्टाफ मेंबर की सलाह के बाद उनकी बल्लेबाजी में सुधार आया। अपने करियर में कई बड़े रिकाॅर्ड बनाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर इकलौते ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर में 100 शतक लगाए हैं। 

तेंदुलकर ने एक परिचर्चा में कहा, किसी के लिए भी अच्छे-बुरे समय का सामना सामान्य बात है। उन्होंने कहा, इसके लिए आपकों चीजों को स्वीकार करना होगा। यह सिर्फ खिलाड़ियों के लिए नहीं है बल्कि जो उसके साथ है उस पर भी लागू होती है। जब आप इसे स्वीकार करते है तो फिर इसका समाधान ढूंढने की कोशिश करते है। उन्होंने चेन्नई के एक होटल कर्मचारी का जिक्र करते हुए कहा कि कोई भी किसी से भी सीख सकता है। 

मासटर ब्लास्टर ने बताया, मेरे कमरे में एक कर्मचारी डोसा लेकर आया और उसे टेबल पर रखने के बाद उसने मुझे एक सलाह दी। उसने बताया, मेरे एल्बो गार्ड (कोहनी को चोट से बचाने वाला) के कारण मेरा बल्ला पूरी तरह से नहीं चल रहा, यह वास्तव में सही तथ्य था। उसने मुझे इस समस्या से निजात दिलाने में मदद की। 

.
.
.
.
.