Sports

नई दिल्ली : टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसा कभी-कभी ही देखा जाता होगा जब कोई मैच बिना विकेट पर रखी गिल्लियों के कारण खेला गया हो। जी, हां मैनचैस्टर के मैदान पर जब ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में खेलने उतरी थी तो लंच के बाद मौसम खराब हो गया था। तेज हवाओं के कारण गिल्लियां विकेट पर टिक नहीं पा रही थीं। ऐसे में अंपायरों ने एक ऐसा अजीब डिसिजन लिया जिससे हर कोई हैरान रह गया। अंपायर कुमार धर्मसेना और मरैस इरास्मस ने बिना गिल्लियां ही मैच आगे बढ़ाने का फैसला लिया। 

Umpires continue Test matches without bails in Ashes, know what the rules say

हालांकि बिना गिल्लियों के मैच करवाने का इंगलैंड के कप्तान जो रूट और गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने विरोध भी किया। लेकिन अंपायरों ने हालातों का बखान कर मैैच शुरू करवा दिया। ऐसा पहली बार नहीं है जब बिना बेल्स के कोई अंतरराष्ट्रीय मैच करवाया गया हो। इससे पहले 2017 में भी तेज हवाओं के कारण वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान के मुकाबले में गिल्लियां विकेट पर टिक नहीं रही थी। ऐसे समय में यह मैच भी बिना गिल्लियां के ही हुआ था। 

यह है नियम 

Umpires continue Test matches without bails in Ashes, know what the rules say
बिना गिल्लियां के मैच करवाने का फैसला नियमों के अनुसार ही लिया गया है। नियम 8.5 कहता है- अंपायर बिना गिल्लियों के मैच करवा सकते हैं। मैदान पर चल रही हवा क्योंकि तय नहीं की जा सकती इसलिए अंपायरों को ही हालातों के अनुसार फैसला लेने की छूट होती है।

.
.
.
.
.