Sports

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) आस्ट्रेलियाई कोच ट्राय कूले को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) का तेज गेंदबाजी कोच नियुक्त करने को तैयार है। विश्व क्रिकेट में कूले को सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजी कोचों में शुमार किया जाता है। इंग्लैंड के गेंदबाजी कोच के तौर पर उनके करियर का सबसे शानदार पल ऐतिहासिक 2005 एशेज श्रृंखला के दौरान आया था जब घरेलू टीम के तेज गेंदबाज आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के लिए दुस्वप्न बन गए थे। 

PunjabKesari

एंड्रयू फ्लिंटाफ, मैथ्यू होगार्ड, साइमन जोन्स और स्टीव हार्मिसन की सफलता और आस्ट्रेलियाई टीम के खराब प्रदर्शन के लिए योजना बनाने का श्रेय इंग्लैंड टीम के ड्रेसिंग रूम में कूले को दिया गया था। बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा कि मैं कहूंगा कि सौरव (गांगुली) और जय (शाह) के लिए सबसे बड़ी सफलता में से एक ट्राय कूले को एनसीए में भारत के तेज गेंदबाजों की अगली पीढ़ी के साथ काम करने के लिए राजी करना है।

उन्होंने कहा कि हमें सुनने को मिल रहा है कि बीसीसीआई कूले को तीन साल का अनुबंध देगा और वह एनसीए क्रिकेट प्रमुख वीवीएस लक्ष्मण के साथ काम करेंगे। इंग्लैंड के साथ 2005 में बड़ी सफलता के बाद अगले साल आस्ट्रेलिया ने कूले को नियुक्त किया था और वह 2010-11 सत्र तक टीम से जुड़े रहे जिसके बाद वह ब्रिसबेन में क्रिकेट आस्ट्रेलिया के ‘सेंटर ऑफ एक्सीलेंस' से जुड़ गए। बीसीसीआई साथ ही तेज गेंदबाजों के लिए ‘एक्सक्लूसिव' करार शुरू करने को तैयार है। 

ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और उमेश यादव सभी 30 साल की उम्र पार कर चुके हैं और इनके संभवत: अगले दो वर्षों तक ही खेलने की उम्मीद है। तो बीसीसीआई पहले ही योजना बना रहा है कि तेज गेंदबाजों की अगली खेप कैसे तैयार की जाए और जिसके अंतर्गत ही वह युवा तेज गेंदबाजों के लिये ‘एक्सक्लूसिव' अनुबंध लाने को तैयार है। समझा जाता है कि गांगुली, शाह मुख्य कोच द्रविड़ और एनसीए प्रमुख लक्ष्मण के साथ मिलकर ऐसा अनुबंध बनाने की कोशिश कर रहे हैं जो ‘एक्सक्लूसिव' हो और केंद्रीय अनुबंध से अलग हो। 

पूर्व भारतीय खिलाड़ी ऋषिकेश कानिटकर और शिव सुंदर दास को बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया गया। ये दोनों एनसीए में बल्लेबाजी कोच की अपनी भूमिका में वापसी करेंगे। ग्रुप के तीसरे बल्लेबाजी कोच सिंताशु कोटक हैं जो भारत ए टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका जाने को तैयार हैं। मुंबई के पूर्व लेग स्पिनर साईराज बहुतुले स्पिन गेंदबाजी कोच होंगे जबकि एनसीए के लिये बीसीसीआई द्वारा नियुक्त तीन क्षेत्ररक्षण कोच सुभादीप घोष, टी दिलीप और मुनीष बाली हैं। दिलीप इस समय न्यूजीलैंड के खिलाफ श्रृंखला के लिये भारत की सीनियर टीम के साथ काम कर रहे हैं जबकि सुभादीप ए टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका जा रहे हैं। बाली के अंडर-19 टीम के साथ काम करने की उम्मीद है। 
 

.
.
.
.
.