Sports

स्पोटर्स डेस्क (अतुल वर्मा): हैमिल्टन में खेले गए भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीसरे और आखिरी रोमांचक टी-20 मुकाबले में कीवी टीम में भारत को केवल मात्र 4 रन से हराकर 3 मैचों की टी-20 सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली और ट्वेंटी-ट्वेंटी फॉर्मेट में अपनी बादशाहत फिर साबित की। इसी के साथ टीम इंडिया का न्यूजीलैंड की सरजमीं पर पहली बार टी-20 सीरीज जीतने का सपना फिलहाल सपना ही रह गया। वहीं अगर टीम इंडिया के खिलाफ दमदार फिल्डिंग दिखाते और बड़े कैच ना छोड़ते तो जाहिर तौर पर जीत की शुभकामनाएं रोहित ब्रिगेड को मिलती नजर आती।

कैच छूटता गया और फिर मैच भी छूटता ही गया

NZvIND 3rd T20

न्यूजीलैंड की ओर से सलामी बल्लेबाज कॉलिंग मुनरो ने ताबड़तोड़ पारी खेलते हुए हर भारतीय गेंदबाज को परेशान किया और 5 गगनचुंबी छक्के और इतने ही चौकों की बदौलत 40 गेंदों पर 72 रनों की शानदार पारी खेली और न्यूजीलैंड के 213 रनों के पहाड़ जैसे स्कोर में अपना बड़ा योगदान दिया। वहीं अगर 13वें ओवर करने आए हार्दिक पांड्या की पहली गेंद पर अगर खलील अहमद मुनरो का कैच लपक लेते तो मैच की तस्वीर कुछ ओर ही होनी थी। उन्होंने मुनरो का कैच छोड़ा, जो टीम इंडिया के लिए वाकई महंगा साबित हुए

कप्तान रोहित शर्मा ने भी की चूक, छोड़ा ग्रैंडहोम का कैच

NZvIND 3rd T20

कॉलिंग मुनरो के 72 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेलकर अपना काम पूरा करने के बाद ग्रैंड होम बल्लेबाजी करने आए। वहीं 18वां ओवर करने आए हार्दिक पांड्या की पहली ही गेंद पर कप्तान रोहित शर्मा ने ग्रैंडहोम की कैच छोड़कर चूक की। उसके बाद ग्रैंडहोम ने एक छोर से बड़े शॉर्ट्स लगाने शुरू कर दिए और करीब 188 की स्ट्राइक रेट से 1 छक्के और 3 चौकों की बदौलत आखिर के ओवर्स में दनादन अपने खाते से 30 रन जोड़े। 

NZvIND 3rd T20

वहीं विजय शंकर की ओर से भी न्यूजीलैंड के बल्लेबाज ग्रैंडहोम का बाउंड्री के पास एक कैच लपकने का शानदार प्रयास किया गया था, लेकिन इसमें वो कामयाब नहीं हो पाए।

न्यूजीलैंड के एक भी खिलाड़ी ने नहीं की चूक, नहीं छोड़ा कोई कैच

NZvIND 3rd T20

NZvIND 3rd T20

वहीं न्यूजीलैंड की ओर से मिले 213 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने आखिर तक मैच जीतने की पूरजोर कोशिश की, लेकिन न्यूजीलैंड की टीम ने आखिर में मैच के साथ-साथ सीरीज भी अपने नाम की। वहीं कैच लपकने के मामले में न्यूजीलैंड के खिलाड़ी भारतीय खिलाड़ियों से आगे ही रहे और एक भी कैच नहीं छोड़ा, चाहे बात शिखर धवन की हो, कप्तान रोहित शर्मा की हो, विजय शंकर, पंत, हार्दिक पांड्या और एमएस धोनी की। टीम इंडिया के 6 खिलाड़ी कैच ही आउट हुए।

.
.
.
.
.