Sports

खेल डैस्क : रणजी ट्रॉफी में चंडीगढ़ की ओर से डैब्यू कर रहे राज अंगद बावा ने पहली ही गेंद पर विकेट लेकर एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में हालांकि बढ़ी संख्या में यह रिकॉर्ड गेंदबाजों ने अपने नाम किया है लेकिन अगर भारतीय गेंदबाजों की बात की जाए तो 2000 में जयपुर के मैदान पर राजस्थान के यश कोठारी ने आंध्र प्रदेश के खिलाफ यह रिकॉर्ड बनाया था। बहरहाल, राज बावा ने हैदराबाद के खिलाफ सलामी बल्लेबाज तन्मय अग्रवाल को आऊट कर यह उपलब्धि अपने नाम की। 

Raj Bawa, Wicket on the first ball, Ranji Trophy debut, Hyderabad vs Chandigarh, HYD vs CHD, cricket news in hindi, sports news, रणजी ट्रॉफी, राज अंगद बावा

हालांकि उक्त मैच में हनुमा विहारी ने सधी हुई बल्लेबाजी कर अपनी टीम को संभाल लिया लेकिन राज बावा टी ब्रेक तक दो विकेट लेने में सफल रहे थे। राज के लिए रणजी डैब्यू यादगार हो गया है। वैसे भी आई.पी.एल. ऑक्शन भी राज के लिए बढ़ी खुशखबरी लेकर आई थी जब उन्हें पंजाब किंग्स फ्रेंचाइजी ने 2 करोड़ रुपए में खरीद लिया। राज ने अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप में गेंद के साथ बल्ले से भी धमाल मचाया था। वह भारत की ओर से एक पारी में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में पहले नंबर पर आ गए हैं। इससे पहले शिखर धवन ने 2004 विश्व कप में 156 रन बनाए थे। राज बावा अब युगांडा के खिलाफ 162 रनों की पारी खेलकर पहले नंबर पर आ गए हैं।

Raj Bawa, Wicket on the first ball, Ranji Trophy debut, Hyderabad vs Chandigarh, HYD vs CHD, cricket news in hindi, sports news, रणजी ट्रॉफी, राज अंगद बावा

बता दें कि राज अंगद बावा ओलिम्पिक हॉकी गोल्ड मैडलिस्ट त्रिलोचन बावा के पोते हैं। उनके दादा 1948 ओलिम्पिक में हॉकी गोल्ड जीतने वाली टीम में थे। यही नहीं, राज के पिता सुरिंदर बावा भी लंबे समय तक क्रिकेट खेल चुके हैं। वह अभी कोच हैं। उनसे युवराज सिंह भी ट्रेनिंग ले चुके हैं।

.
.
.
.
.