Sports

ग्वालियर : भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम की इशिका चौधरी का कहना है कि उनका सपना सीनियर टीम के साथ खेलते हुए ओलंपिक पदक जीतना है। इशिका ने कहा- किसी भी अन्य युवा खिलाड़ी की तरह मेरा अंतिम सपना भारत के लिए खेलना और ओलंपिक खेलों में पदक सहित बहुत सारी ट्रॉफी जीतना है। लेकिन साथ ही, मैं अपने तात्कालिक लक्ष्य पर भी ध्यान केंद्रित कर रही हूं जोकि 8वीं जूनियर महिला एशिया को जीतना है।

हॉकी इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट ने चौधरी के हवाले से कहा- 2021 के जूनियर महिला विश्व कप में अपनी बर्थ को सुरक्षित रखना उनका लक्ष्य है। 20 वर्षीय चौधरी ने 11 साल की उम्र में खेल खेलना शुरू किया था और उन्होंने मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी से स्नातक किया है। चौधरी ने कहा कि उनके कोच और उनके परिवार ने वास्तव में उस रास्ते की मदद की जिसने उन्हें खेल में विकसित करने की अनुमति दी।

इशिका ने कहा- जब मैंने पहली बार शुरुआत की, तो मुझे नहीं पता था कि मेरे हॉकी करियर के शुरुआती साल कैसे गुजरेंगे। मुझे लगता है कि मेरे कोच और मेरे परिवार ने वास्तव में मेरी मदद की है। उन्होंने एक युवा खिलाड़ी को सही सलाह और आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया। 

.
.
.
.
.