Sports

जेनेवा : यूरोपीय फुटबॉल महासंघों के संघ (यूएफा) ने कहा कि पड़ोसी देश अर्मीनिया से संघर्ष के बाद भी वह यूरोपीय चैम्पियनशिप के मैचों को अगले अजरबैजान की मेजबानी में कराने की योजना जारी रखेगा। यूएफा ने हालांकि कहा है कि ‘अगली सूचना तक अजरबैजान किसी मैच की मेजबानी नहीं करेगा।

बाकू (अजरबैजान) को जून में यूरो 2020 के ग्रुप चरण के तीन मैचों के अलावा तीन जुलाई को क्वार्टर फाइनल मुकाबले की मेजबानी करनी है। ग्रुप चरण के मैच स्विट्जरलैंड, तुर्की और वेल्स से जुड़े हुए है। इस 24 देशों के टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए चुने गये 12 देशों में से अजरबैजान एक है। टूर्नामेंट को हालांकि कोविड-19 के कारण एक साल के लिए स्थगित कर दिया गया। आर्मीनिया और आजरबैजान के बीच नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र को लेकर हुए संघर्ष के बाद यूएफा ने नेशंस लीग के मैचों को तटस्थ देशों में स्थानांतरित कर दिया था। 

यूएफा से मंगलवार को जारी बयान के मुताबिक कि यूईएफए का मानना है कि वर्तमान समय में इन देशों में मैचों के आयोजन के लिए जरूरी शर्तों को पूरा नहीं किया जा सका। इस क्षेत्र की स्थिति पर नजर रखी जाएगी। बयान के मुताबिक मौजूदा परिस्थितियों का हालांकि अगले साल जून में यूएफा यूरो2020 के मैचों को बाकू में कराने की योजना पर कोई असर नहीं पड़ेगा।
   

.
.
.
.
.