Sports

राजकोट : पंजाब किंग्स के सह मालिक नेस वाडिया का मानना ​​है कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने मीडिया अधिकार से 6.2 अरब डॉलर की मोटी धनराशि हासिल की है और इसलिए अब इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को दो अलग-अलग सत्रों में आयोजित किया जाना चाहिए। 

बीसीसीआई ने आईपीएल के मीडिया अधिकार ई-नीलामी से 48390 करोड़ रुपए में बेचे, जो पिछले चक्र की तुलना में लगभग तीन गुना अधिक है। अगले पांच वर्षों में आईपीएल में 94 मैच हो सकते हैं। बीसीसीआई सचिव जय शाह पहले ही कह चुके हैं कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के भविष्य के दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में आईपीएल के लिए ढाई महीने का समय होगा। 

वाडिया ने उम्मीद जताई कि आईपीएल में अधिक घरेलू मैच होंगे और इसका सत्र लंबा खिंचेगा। उन्होंने पीटीआई से कहा, ‘आईपीएल ने क्रिकेट को वैश्विक स्तर पर पहुंचाया है। आईपीएल ने क्रिकेट को जरूरी ऊर्जा प्रदान की है और इसे वैश्विक खेल बना दिया है। अब यह और बड़ा हो जाएगा।' वाडिया ने कहा, ‘अभी घरेलू मैदान पर केवल सात मैच खेले जाते हैं। ये बहुत कम है। इनकी संख्या कम से कम 14 होनी चाहिए। मुझे वास्तव में लग रहा है कि अब आईपीएल का सत्र लंबा खिंचेगा जो कि लंबे समय से अपेक्षित है।' 

उन्होंने कहा, ‘यदि आईपीएल को चार महीने के लंबे सत्र तक आयोजित नहीं किया जा सकता है तो क्यों न इसका आयोजन दो सत्रों में किया जाए। इनमें से एक सत्र भारत में और दूसर किसी अन्य देश में आयोजित किया जा सकता है। भारतीय दुनिया भर में हर जगह हैं। पूरी संभावना है कि आईपीएल में अब अधिक मैच होंगे।' 

.
.
.
.
.