Sports

लंदन : विश्व के नंबर एक खिलाड़ी स्पेन के राफेल नडाल ने एटीपी फाइनल्स टेनिस टूर्नामेंट में दानिल मेदवेदेव के खिलाफ जीत के साथ टूर्नामेंट में अपनी उम्मीदें बरकरार रखी हैं, जिससे उनके वर्ष का समापन विश्व के नंबर एक खिलाड़ी के रूप में करने की स्थिति भी प्रबल हुई है। मेदवेदेव के खिलाफ निर्णायक सेट में मैच प्वांइट का सामना करने और दो बार सर्विस ब्रेक होने के बावजूद नडाल ने 6-7 (3/7), 6-3, 7-6 (7/4) से मुकाबला अपने नाम कर लिया।

दोनों खिलाड़यिों के बीच यहां ओ2 एरिना में खेले गए आंद्रे अगासी ग्रुप के राउंड रॉबिन मैच में कमाल का संघर्ष देखने को मिला जहां नडाल अपना ओपनिंग मैच हार गए थे। नडाल के लिए लंदन में 2 मायनों में अहम है, वह अपने सुनहरे करियर में पहली बार एटीपी फाइनल्स खिताब के लिये खेल रहे हैं तथा उनका अगला लक्ष्य अपनी नंबर वन रैंकिंग के साथ वर्ष का समापन करना है, जिसके लिए उन्हें नंबर-दो नोवाक जोकोविच से कड़ी स्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है। 

स्पेनिश खिलाड़ी ने इस सत्र में 2 मास्टर्स खिताब जीते हैं लेकिन मेदवेदेव के खिलाफ उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा। 23 वर्षीय युवा खिलाड़ी ने पहला सेट टाईब्रेक में जीतने के साथ बढ़त बनाई लेकिन नडाल ने विपक्षी की दूसरे सेट के शुरूआत में ही सर्विस ब्रेक कर दी और सेट जीत मैच बराबरी पर आ गया। निर्णायक सेट में मेदवेदेव ने बेहतरीन बैकहैंड लगाये लेकिन नडाल ने दो बार उनकी सर्विस ब्रेक कर मैच में 6-5 से बढ़त बनाई। लेकिन सेट टाईब्रेक में खींच गया। 

19 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन ने निर्णायक सेट के टाईब्रेक में मेदवेदेव की गलतियों का फायदा उठाया और उनके फोरहैंड के वाइड जाने के साथ नडान को दो मैच प्वांइट मिल गये और अगले अंक के साथ उन्होंने टाईब्रेक जीत मैच अपने नाम कर लिया। नडाल ने एटीपी फाइनल्स के लिये लगातार 15वीं बार क्वालीफाई किया है लेकिन खिताब तक नहीं पहुंच सके हैं जहां रिकार्ड 6 बार रोजर फेडरर और पांच बार जोकोविच चैंपियन रहे हैं। टूर्नामेंट में सबसे पहले डॉमिनिक थिएम सेमीफाइनल में जगह बना चुके हैं और अब बोजोर्न बोर्ज ग्रुप से केवल एक बचे क्वालिफिकेशन स्थान के लिये फेडरर तथा जोकोविच के बीच मुकाबला होगा। 

.
.
.
.
.