Sports

कोलम्बो : श्रीलंका के अनुभवी अम्पायर कुमार धर्मसेना ने स्वीकार किया है कि विश्व कप फाइनल में आखिरी ओवर में ओवरथ्रो पर इंग्लैंड को पांच के बजाए छह रन देना एक गलती थी लेकिन उन्हें इस फैसले का कभी अफसोस नहीं रहेगा। धर्मसेना ने श्रीलंका के अखबार संडे टाइम्स से कहा, ‘इंग्लैंड को 6 रन देना एक सामूहिक फैसला था और मैंने यह फैसला स्क्वायर लेग अम्पायर मरायस इरस्मस से विचार विमर्श करने के बाद लिया था और हमारी बातचीत उस दिन सभी मैच अधिकारियों ने सुनी थी।' 

PunjabKesari

श्रीलंकाई अम्पायर ने साथ ही कहा कि यह एक गलती थी और उन्हें इस फैसले का कभी अफसोस नहीं रहेगा। उन्होंने कहा, ‘लोगों के लिए टीवी पर रिप्ले देखने के बाद टिप्पणी करना काफी आसान होता है। मैं अब जब टीवी पर रिप्ले देखता हूं तो मुझे लगता है कि यह एक गलती थी लेकिन हमारे पास मैदान पर रिप्ले देखने की कोई सुविधा नहीं होती है।'

उन्होंने कहा, ‘मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैंने जो फैसला किया उसका मुझे कोई अफ़सोस नहीं रहेगा। आईसीसी ने तो उस दिन किए गए मेरे फैसले की तारीफ की है।' 

.
.
.
.
.