Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : पाकिस्तान के खिलाफ टी20 विश्वकप में ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने आक्रामक 49 रन की पारी खेली। पर सेमीफाइनल में खेली गई वार्नर की यह पारी बेहद गलत तरीके से खत्म हुई। दरअसल शदाब खान की गेंद पर वार्नर ने शॉट खेला और विकेट के पीछ कीपिंग कर रहे रिजवान ने अपील कर दी। जिस पर अंपायर ने आउट दे दिया। वार्नर भी पवेलियन की ओर चल पड़े। पर असल में गेंद वार्नर के बल्ले से नहीं लगी थी। अब इस मुद्दे पर मैथ्यू वेड ने बयान दिया है।

मैथ्यू वेड ने अपने बयान में कहा कि हमारे पास उस समय ज्यादा समय नहीं था। मुझे लग रहा था कि गेंद बल्ले से लगी है। वार्नर भी इसको लेकर एकमत नहीं थे। उन्हें भी लग रहा था कि शायद उनका बल्ला हाथ या फिर हैंडल पर लगा है। वार्नर को नहीं लग रहा था कि उन्होंने गेंद को हिट किया है। पर मुझे लगता है कि मैक्सवेल को दूसरे छोर पर थे और शायद उन्हें कोई आवाज आई हो। यही चीज है जो हो सकती थी। तो इसलिए उन्होंने रिव्यू नहीं लिया।

वेड ने आगे कहा कि इस तरह की परिस्थिति काफी मुश्किल होती है। आप कितनी बार देखते हैं कि बल्लेबाज को लगता है कि उन्होंने इसे हिट नहीं किया है पर उन्होंने किया होता है? दूसरे छोर पर खड़े मैक्सवेल को आवाज सुनाई दी थी। मुझे लगता है मैक्सवेल ने मदद करने की कोशिश की थी।

पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में मैथ्यू वेड ने शाहीन अफरीदी के ओवर में लगातार तीन छक्के लगाकर ऑस्ट्रेलिया को दूसरी बार टी20 विश्वकप के फाइनल में पहुंचाया। मैथ्यू वेड ने पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में 17 गेंदों पर 41 रन की पारी खेली।

.
.
.
.
.