Sports

नई दिल्ली : दो बार राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता रही साइना नेहवाल ने चयन ट्रायल की टाइमिंग पर सवाल उठाते हुए उन्हें दोनों से बाहर करने के लिए भारतीय बैडमिंटन संघ की आलोचना की। बीएआई ने दो अप्रैल को चयन ट्रायल रखा था जिसमें बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल और हांगझोउ एशियाई खेलों के साथ बैंकाक में आठ से 15 मई तक होने वाले थॉमस कप और उबेर कप की टीम का भी चयन किया गया। 

दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना ने कहा कि उन्होंने बीएआई को इंदिरा गांधी स्टेडियम पर हुए ट्रायल से बाहर रहने की सूचना दे दी थी लेकिन इसके यह मायने नहीं है कि वह इन टूर्नामेंटों में भाग नहीं लेना चाहती थी। उन्होंने ट्वीट किया कि ऐसी खबरें पढकर हैरान हूं कि मैं राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में भाग नहीं लेना चाहती थी। मैं यूरोप में तीन सप्ताह खेलकर लौटी हूं और इसी वजह से ट्रायल में भाग नहीं लिया। एक सीनियर खिलाड़ी होने के नाते लगातार खेलना संभव नहीं है। इससे चोट लगने का डर है और इतने कम समय पूर्व दी गई सूचना पर तो बिल्कुल नहीं।

उन्होंने कहा कि मैंने बीएआई को इसकी इत्तिला दे दी थी लेकिन उनकी ओर से कोई जवाब नहीं आया। लगता है कि इन दोनों टूर्नामेंटों से मुझे बाहर रखकर वे खुश हैं। बीएआई ने बीडब्ल्यूएफ रैंकिंग में शीर्ष 15 में शामिल खिलाड़ियों को ट्रायल से छूट दी थी लेकिन विश्व रैंकिंग में 16 से 50वें स्थान पर काबिज खिलाड़ियों को ट्रायल में भाग लेना था।  
 

.
.
.
.
.