Sports

नई दिल्ली : भारत के पूर्व कप्तान और रन मशीन रहे सुनील गावस्कर ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की सराहना करते हुए कहा है कि वह तीनों प्रारुप में ‘विराट' रहे हैं। विराट ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चल रही सीरीज के दूसरे वनडे मुकाबले के दौरान तीनों प्रारुप में 22000 से अधिक रन बनाने की उपलब्धि हासिल की थी जबकि तीसरे मैच में अपनी पारी के दौरान वनडे में सबसे तेज 12 हजारी रन बनाने वाले खिलाड़ी बने थे और उन्होंने क्रिकेट लीजेंड सचिन तेंदुलकर का रिकॉडर् तोड़ दिया था।

विराट ने यह करानामा अपने 251वें वनडे मैच में किया। गावस्कर ने कहा, ‘क्रिकेट के तीनों प्रारुपों में विराट का प्रदर्शन शानदार रहा है। उनका प्रदर्शन ही उन्हें विराट बनाता है। 2008-09 में एक युवा खिलाड़ी के बाद उन्होंने जिस तरह अपने को विकसित किया वो बेहतरीन है। उन्होंने अपने खेल को जिस तरह उभारा और सुपर फिट क्रिकेटर बने वह ना सिर्फ युवाओं बल्कि उन लोगों के लिए भी प्रेरणास्रोत्र हैं जो खुद को फिट रखने पर ध्यान केंद्रित करते हैं।'

उन्होंने कहा, ‘वनडे में 12000 रन से ज्यादा बनाने के अलावा उन्होंने तीसरे वनडे में अर्धशतक भी जड़ा। मेरे ख्याल से उन्होंने 251 वनडे मैच खेले हैं जिसमें 43 शतक और 60 अर्धशतक शामिल हैं जो अभूतपूर्व है। मुझे नहीं लगता कि किसी और ने ऐसा किया है।' गावस्कर ने कहा, ‘विराट जिस तरह अपनी लय को बरकार रखते हुए अर्धशतक को शतक में बदलते हैं वो अविश्वनीय है। हमें इसका जश्न मनाना चाहिए और हमें विराट के अगले 1000 रन की प्रतीक्षा करनी चाहिए जो मैं उम्मीद करता हूं कि अगले पांच-छह महीने में पूरे हो जाएंगे।' 

.
.
.
.
.