Sports

बेंगलुरु : भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम की डिफेंडर महिमा चौधरी ने कहा है कि 2021 में टीम का पहला लक्ष्य एफआईएच जूनियर महिला विश्वकप के लिए क्वालीफाई करना है। एफआईएच जूनियर महिला विश्वकप का आयोजन अगले साल पांच से 16 दिसंबर तक दक्षिण अफ्रीका में होना है। मेजबान होने के नाते दक्षिण अफ्रीका इसके लिए पहले ही क्वालीफाई कर चुका है।

महिमा ने कहा- इस साल जो हुआ उसे हमें पीछे छोडऩा होगा। हम इस बारे में नहीं सोच रहे है कि महामारी के कारण हमने इस साल क्या गंवाया लेकिन हम 2021 के बारे में विचार कर रहे हैं। हमारे लिए यह महत्वपूर्ण वर्ष है क्योंकि दिसंबर में जूनियर विश्वकप होना है जिसमें क्वालीफाई करने के लिए हमें अगले वर्ष अप्रैल में होने वाला जूनियर एशिया कप जीतना होगा। इसके लिए क्वालीफाई करना 2021 का हमारा पहला लक्ष्य है।

उन्होंने कहा- राष्ट्रीय शिविर में वापस लौटना सुखद है और हम जैविक सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत ट्रेनिंग कर रहे हैं। हम धीरे-धीरे अपनी पुरानी लय वापस हासिल कर रहे हैं और जूनियर एशिया कप के लिए मानसिक और शारीरिक तौर पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। पिछली बार 2015 के एशिया कप में भारत चौथे स्थान पर रहा था और इस वर्ष हम स्वर्ण पदक हासिल कर जूनियर विश्वकप के लिए क्वालीफाई करना चाहेंगे।

सीनियर टीम के शिविर में ही ट्रेनिंग करने पर महिमा ने कहा- पिछले कुछ वर्षों से सीनियर टीम ने हमारे लिए कई बेंचमार्क तय किए हैं। उन्होंने विश्व रैंकिंग में भी सुधार किया है और उनसे हमें काफी प्रेरणा मिलती है। सीनियर टीम को करीब से ट्रेनिंग करते देखना जूनियर संभावितों के लिए सीखने का बड़ा अवसर है।

.
.
.
.
.