Sports

बीजिंग : चीन की टेनिस खिलाड़ी का साक्षात्कार करने वाले फ्रांस के ‘ल एक्विप' अखबार के दो पत्रकारों में से एक मार्क वेंटौइलैकी ने इस बात पर संदेह व्यक्त किया कि वह पूरी तरह से स्वतंत्र है और उसे खुल कर बोलने की आजादी है। अखबार ने कहा कि उसने एक शनिवार को बीजिंग के एक होटल में पेंग से एक घंटे तक बात की । चीन की ओलंपिक समिति ने यह इंटरव्यू लेने में मदद की।

वेंटौइलैकी ने कहा कि इस मुद्दे पर कुछ भी कहना संभव नहीं है। यह साक्षात्कार इस बात का प्रमाण नहीं देता कि पेंग शुआई को कोई समस्या नहीं है। चीन की मंशा हालांकि उनके लिए स्पष्ट थी। बीजिंग के शीतकालीन ओलंपिक के मेजबान के रूप में साक्षात्कार दिलाने से ऐसा प्रतीत होता है कि चीन के अधिकारी इस विवाद को खत्म करना चाहते है। 

वेंटौइलैकी ने कहा कि यह चीन की ओलंपिक समिति से संचार, प्रचार का एक हिस्सा है। एक बड़े यूरोपीय समाचार पत्र को साक्षात्कार देना यह दिखाने की कोशिश है कि पेंग शुआई के साथ कोई समस्या नहीं है। देखो, पत्रकार ने अपने मनचाहे सवाल पूछे हैं। पेंग अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बाक और अन्य अधिकारियों के साथ शीतकालीन खेलों के कई स्पर्धाओं को देख रही है। 

पत्रकार ने कहा कि मुझे लगता है चीन की ओलंपिक समिति और कम्युनिस्ट पार्टी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि पेंग शुआई से जुड़ा कोई मामला नहीं है। महिला पेशेवर टेनिस टूर (डब्ल्यूटीए) ने कहा कि यह साक्षात्कार ‘हमारी किसी भी चिंता को कम नहीं करता'। इसमें नवंबर में उसके द्वारा लगाए गए आरोपों के बारे में कुछ खास नहीं है। पेंग ने नवंबर में सोशल मीडिया पोस्ट के जरिये चीन के पूर्व उप प्रधानमंत्री और सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के पोलितब्यूरो की स्थायी समिति के सदस्य झांग गाओली पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था लेकिन इस साक्षात्कार में इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने गोल मोल जवाब दिया। 
 

.
.
.
.
.