Sports

नई दिल्ली : दुनिया की बहुचर्चित ट्वंटी-20 इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) की ब्रांड वैल्यू सात फीसदी बढ़कर 47,500 करोड़ रुपए पहुंच गई है। पिछले साल यह वैल्यू 41,800 करोड़ थी जोकि इस साल चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के वापसी करने से और बढग़ई। वैश्विक सलाहकार कंपनी डफ एंड फेल्प्स की आईपीएल (IPL) की ब्रांड वैल्यूएशन को लेकर जारी रिपोर्ट के अनुसार आईपीएल की ब्रांड कीमत 47,500 करोड़ रुपए हो गई है। यह बढ़ोतरी तब दर्ज की गई है जब देश की अर्थव्यवस्था में सुस्ती का दौर है।

आईपीएल की ब्रांड वैल्यू बढ़ने से फ्रेंचाइजियों पर असर 

IPL photo, आईपीएल

आईपीएल की फ्रेंचाइजियों को भी इस वृद्धि का फायदा मिला है और उसकी सबसे सफल टीम तथा मौजूदा सत्र में चैंपियन बनी नीता अंबानी (Nita Ambani) के मालिकाना हक वाली मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) ने इसका सबसे अधिक फायदा उठाया है जिसकी ब्रांड वैल्यू में 8.5 फीसदी बढ़ोतरी हुई है जो 809 करोड़ रुपए है। वहीं कोलकाता नाइट राइडर्स (Kolkata Knight Riders) और लीग की फिसड्डी टीम विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर (Royal Challengers Bangalore) की ब्रांड वैल्यू 8-8 फीसदी बढ़ी है जो 630 करोड़ रुपए और क्रमश: 595 करोड़ रुपए है। हालांकि अन्य टीमों मुंबई, चेन्नई और अपने प्रदर्शन से चौंकाने वाली दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) की तुलना में यह कम है।

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई की ब्रांड वैल्यू

IPL photo, ipl trophy, आईपीएल

महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की कप्तानी वाली चेन्नई की ब्रांड वैल्यू 13.1 फीसदी बढ़ी है जिससे यह 732 करोड़ रुपए पहुंच गई है। दो वर्ष के निलंबन के कारण हालांकि चेन्नई की ब्रांड वैल्यू में कुछ कमी आई थी लेकिन इस सत्र में वापसी कर रही चेन्नई ने काफी जल्दी ट्रैक पर वापसी कर ली है। आईपीएल की सबसे युवा टीम सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) ने भी बढ़ोतरी दर्ज की है जबकि दिल्ली कैपिटल्स के नए नाम से उतरी दिल्ली फ्रेंचाइजी की ब्रांड वैल्यू में नौ फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
IPL photo, आईपीएल
आईपीएल के विज्ञापनों में 20 फीसदी वृद्धि हुई है जिसने हाल ही में पेटीएम (Paytm) को अपना टाइटल प्रायोजक बनाया है। लीग के ओवरऑल वैल्यू में करीब 13.5 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

.
.
.
.
.