Sports

बासेल: भारतीय बैडमिंटन की दो क्वीन पीवी सिंधु और सायना नेहवाल पर सोमवार से यहां शुरू हो रही विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में एक बार फिर देश की पदक उम्मीदों का दारोमदार रहेगा। दोनों को ही इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में अपने पहले खिताब की तलाश है और उनका सेमीफाइनल में मुकाबला हो सकता है। 

ओलंपिक रजत विजेता सिंधु ने इस टूर्नामेंट में 2013 और 2014 में कांस्य पदक जीते थे जबकि 2017 और 2018 में उन्होंने रजत पदक जीते थे जबकि सायना 2015 में रजत पदक और 2017 में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। टूर्नामेंट में क्वाटर्रफाइनल तक की बाधाएं पार करने पर दोनों भारतीय खिलाड़ियों का सेमीफाइनल में मुकाबला हो सकता है। लेकिन सेमीफाइनल से पहले सिंधुु के सामने क्वाटर्रफाइनल में पूर्व नंबर एक और दूसरी वरीयता प्राप्त चीनी ताइपे की ताई जू यिंग की सबसे बड़ी बाधा रहेगी। हालांकि सिंधु को इस बात से राहत मिलेगी कि उनकी प्रबल प्रतिद्वंद्वी स्पेन की कैरोलिना मारिन चोट के कारण इस टूर्नामेंट से हट गई हैं।

दोनों भारतीय खिलाड़यिों को पहले दौर में बाई मिली है। दूसरे दौर में सिंधु का मुकाबला चीनी ताइपे की पाई यू पो या बुल्गारिया की लिंडा जेचिरी के बीच मुकाबले की विजेता से होगा। तीसरे दौर में सिंधु का सामना नौंवी वरीय अमेरिका की बेईवेई झांग से हो सकता है। सायना का दूसरे दौर स्विट्जरलैंड की सबरीना जाकेट और हॉलैंड की सोराया डि विश्च इजबर्गन के बीच होने वाले मैच की विजेता से मुकाबला होगा। तीसरे दौर में सायना का मुकाबला 12वीं सीड डेनमाकर् की मिया ब्लिचफेल्ट से हो सकता है। 


 

.
.
.
.
.