Sports

मस्कट : भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान सविता पुनिया ने गुरुवार को कहा कि एशिया कप में टीम का अनुभव उसके प्रदर्शन के लिए अहम कुंजी होगा। भारत अपने अभियान की शुरुआत टूर्नामेंट में 21 जनवरी को मलेशिया के खिलाफ करेगा। यह टूर्नामेंट एफआईएच महिला विश्व कप 2022 के लिए एक क्वालीफाइंग इवेंट भी है। 

सविता ने कहा, 'इस टीम की सबसे अच्छी बात यह है कि हम में से कई लोग लंबे समय से एक साथ खेल रहे हैं। मुझे लगता है कि यह अनुभव और टीम का आपसी तालमेल हमें अन्य टीमों पर बढ़त देगा।' गोलकीपर ने कहा, 'हमारी मुख्य प्राथमिकता अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करना है। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम बिना किसी गलती के हर टीम के खिलाफ अपने प्लान को लागू करें।' 

गत चैम्पियन भारत को पूल ए में जापान, मलेशिया और सिंगापुर के साथ रखा गया है। रानी रामपाल की अनुपस्थिति में टीम का नेतृत्व कर रही सविता ने जोर देकर कहा कि अच्छी शुरुआत करने से भारत को सही गति मिलेगी। उन्होंने कहा, 'हमने पहले भी कई बार मलेशिया के खिलाफ खेलें हैं, वह अच्छी टीम है। उनके खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने से हमें टूर्नामेंट की सही शुरुआत मिलेगी। 

एक टीम के रूप में, हम अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करने में विश्वास करते हैं और इस बारे में ज्यादा चिंता नहीं करते हैं कि विरोधी टीम क्या कर सकती है क्या नहीं। हम सिफर् अपनी ताकत पर खेलना चाहते हैं।' गोलकीपर ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि टोक्यो ओलंपिक 2020 ने टीम में ‘कभी हार न मानने' का जज्बा पैदा किया है और उनका मानना है कि खिलाड़ी अंतिम समय तक लड़ेंगे। 

कप्तान ने कहा कि टीम की खासियतों में से एक यह है कि हमने अंत तक लड़ना सीखा है। उन्होंने कहा, 'अगर हम कुछ गोल से पिछड़ जाते हैं, तो हम हार नहीं मानते हैं। मुझे लगता है कि ये पहलू तब मायने रखेंगे जब हम इस तरह के एक महत्वपूर्ण टूर्नामेंट में अच्छी टीमों के साथ खेलेंगे जहां एफआईएच महिला विश्व कप के लिए योग्यता दांव पर लगी है।' मलेशिया के खिलाफ अपने पहले मैच के बाद भारत 23 जनवरी को जापान से भिड़ेगा और 24 जनवरी को अपने आखिरी पूल ए मैच में सिंगापुर से खेलेगा। टूर्नामेंट का सेमीफाइनल 26 जनवरी को और फाइनल मैच 28 जनवरी को खेला जाएगा।

.
.
.
.
.