Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : इंग्लैंड के साउथम्पटन में 18-22 जून को भारत और न्यूजीलैंड के बीच आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच खेला जाएगा। इसके लिए बीसीसीआई ने पिछले सप्ताह टीम की घोषणा कर दी है जिसमें 24 खिलाड़ियों (4 स्टैंडबाय) को चुना गया है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने कहा कि डब्ल्यूटीसी फाइनल में भारत की बल्लेबाजी तकनीक अहम होगी और ये भी बताया कि कौन सा बल्लेबाज गेम चेंजर साबित होगा। 

एक काॅलम में मांजरेकर ने लिखा, इंग्लैंड में बल्लेबाजी के समय तमाम पुरानी टेकनीक का ध्यान रखना होता है, जैसे कि गेंद को बॉडी के करीब खेलो, ऑउटसाइड ऑफ की गेंद को जाने दो...। उन्होंने कहा, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड की कंडीशन्स एक जैसी हैं। इंग्लैंड में भारत खेलते समय असहज रहता है जैसा कि हमने पिछली सीरीज में देखा था। तीन टेस्ट मैचों में भारत का हाइएस्ट स्कोर 242 रनों का था। सही कहूं तो न्यूजीलैंड को भी इंग्लैंड में बल्लेबाजी करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा था, लेकिन उनकी स्थिति भारत से बेहतर है। 

पूर्व भारतीय क्रिकेटर आगे लिखते हैं कि विराट कोहली बल्ले के साथ भारत के लिए गेम चेंजर साबित होंगे। टेस्ट में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए जाने जाते कोहली से यह अपेक्षा करना गलत नहीं है। वह खुद स्लो और सीमिंग कंडीशन्स में सहज नहीं रहते हैं, लेकिन वह जानते हैं कि इंग्लैंड की परिस्थितियां न्यूजीलैंड से बेहतर होंगी। 
 

.
.
.
.
.