Sports

नई दिल्ली : भारत के खिलाफ टेस्ट के लिए इंग्लैंड टीम से जॉनी बेयरस्टो को बाहर करने की आलोचना करते हुए पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने कहा कि अगर दौरा करने वाली टीम इस शानदार श्रृंखला में अपने सर्वश्रेष्ठ 11 खिलाड़ी नहीं उतारती तो यह मेजबान टीम के लिए अपमानजनक होगा। केवल बेयरस्टो ही नहीं बल्कि आल राउंडर सैम कुरेन और तेज गेंदबाज मार्क वुड को भी टीम से बाहर रखा गया है। 

इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की खिलाड़ी प्रबंधन नीति के तहत बेयरस्टो को पहले 2 टेस्ट के लिए आराम दिया गया है। पीटरसन ने कहा कि भारत के खिलाफ जीत चिर प्रतिद्वंद्वी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत की तरह ही है और चयनकर्ताओं से स्टुअर्ट ब्राड और जेम्स एंडरसन को खिलाने का आग्रह किया। पीटरसन ने ट्वीट किया, ‘इंग्लैंड ने पहले टेस्ट में भारत से खेलने के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम चुनी है या नहीं, यह बड़ी बहस का मुद्दा है। 

उन्होंने कहा, भारत में जीत दर्ज करना उसी तरह का अहसास है जैसे ऑस्ट्रेलिया में जीत हासिल करना। यह इंग्लैंड के प्रशंसकों के लिए अनादर होगा और साथ ही बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) के लिए भी, कि आप अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं खिलाओ। बेयरस्टो को खेलना चाहिए। ब्राड/एंडरसन को खेलना चाहिए।' 

एक अन्य ट्वीट में पीटरसन ने कहा कि सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी फार्म में चल रही भारतीय टीम के खिलाफ खेलने का मौका चूकना नहीं चाहेंगे और उन्होंने सुझाव दिया कि इंडियन प्रीमियर लीग के बाद खिलाड़ियों को आराम दिया जा सकता है। पीटरसन ने कहा, ‘इंग्लैंड के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भारत के खिलाफ उसकी सरजमीं में जितने ज्यादा संभव हो, उतने मैच खेलना चाहेंगे, उन्हें चुनिए। फिर वे आईपीएल जाएंगे और वे जिसके हकदार हैं, वो कमाई करेंगे। हर खिलाड़ी के लिए धनराशि अहम है। यह व्यवसाय है, इसके बाद वे ब्रेक ले सकते हैं।' 

.
.
.
.
.