Sports

साउथम्पटन: इंग्लैंड के स्पिनर जैक लीच ने कहा कि इस साल दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान उनमें कोरोना वायरस जैसे लक्षण दिखे थे लेकिन अब पूर्ण फिटनेस हासिल करने के बाद उनका ध्यान अगले महीने होने वाली टेस्ट श्रृंखला के लिए राष्ट्रीय टीम में जगह बनाना है। बाएं हाथ के स्पिनर लीच को जनवरी में दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान सेपसिस (प्रतिरक्षी तंत्र का संक्रमण के प्रति अत्यधिक प्रतिक्रिया देना) से जूझने के बाद स्वदेश लौटना पड़ा था।

PunjabKesari
लीच ने कहा, ‘मुझे लगता है कि अब हमें कभी पता नहीं चलेगा, अगर दक्षिण अफ्रीका में जो लक्षण दिखे थे वे अब दिखते तो मैं निश्चित तौर पर कह सकता था कि यह कोरोना वायरस है। लेकिन अब मैं स्वस्थ और फिट महसूस कर रहा हूं।' इस क्रिकेटर ने वीडियो कॉल पर कहा, ‘इन सर्दियों में जो हुआ उसमें मैं कुछ नहीं कर सकता लेकिन मैं भाग्यशाली हूं कि मेरी क्रोन की बीमारी अब ठीक है। कई ऐसे लोग हैं जो मेरे से भी बदतर बीमारी से पीड़ित हैं। मैं खुद के लिए दुखी नहीं हूं, मैं जितना अधिक संभव हो उतना क्रिकेट खेलना चाहता हूं और फिट तथा स्वस्थ रहना चाहता हूं।' 

लीच इंग्लैंड की 30 सदस्यीय टीम में शामिल पांच स्पिनरों में से एक हैं। उनके अलावा डोम बेस, मोईन अली के अलावा नए खिलाड़ियों अमर विर्डी और मैट पार्किंसन को टीम में जगह मिली है। लीच का मानना है कि अगर वह सही मानसिकता रखते हैं तो किसी भी तरह की चुनौती से पार पा सकते हैं और वह हैडिंग्ले में अपने बल्लेबाजी प्रदर्शन से प्रेरणा ले रहे हैं जब वह 17 गेंद तक क्रीज पर टिके रहे थे और बेन स्टोक्स के साथ मिलकर टीम को एक विकेट की शानदार जीत दिलाई थी। 
 

.
.
.
.
.