Sports

लंदन: तेज गेंदबाज लियाम प्लंकेट का मानना है कि इंग्लैंड को विश्व कप जीतना ही था हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कि न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल के आखिरी ओवर में ‘लकी' ओवरथ्रो ने पासा उनकी टीम के पक्ष में पलट दिया। इंग्लैंड को आखिरी ओर में तीन गेंद में नौ रन चाहिए थे जब बेन स्टोक्स ने ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर डीप में शाट खेला। 

PunjabKesari
मार्टिन गुप्टिल का थ्रो स्टोक्स के बल्ले से लगा और गेंद सीमारेखा पर चली गई। प्लंकेट ने कहा, मैं सितारों और भाग्य में विश्वास नहीं करता लेकिन पहली बार ऐसा लगा कि यह तकदीर में था ।' उन्होंने कहा, ‘हम पिछले चार साल से एक ईकाई के रूप में साथ खेल रहे हैं और अलग अलग देशों में खेला है। मेरा मानना है कि एक टीम के रूप में हम जीत के हकदार थे।'

प्लंकेट ने आगे कहा, ‘हम अच्छे दोस्त है लेकिन हम काफी मेहनत भी करते हैं। सभी करते हैं लेकिन मेरा मानना है कि हमें जीतना ही था। उस ओवरथ्रो ने पासा पलट दिया।' इस तेज गेंदबाज ने कहा कि विश्व कप में इंग्लैंड की जीत को उसी तरह याद रखा जायेगा जैसे 2005 में टीम की एशेज जीत को। उन्होंने कहा, ‘अगर हम विश्व कप नहीं भी जीतते तो यह यादगार सफर था । हम शानदार खेले और इंग्लैंड में क्रिकेट की तहजीब बदल दी। लोगों को हमसे जीत की उम्मीद थी जो काफी बड़ा बदलाव था।

.
.
.
.
.