Sports

बर्मिंघम : भारत के कार्यवाहक कप्तान जसप्रीत बुमराह ने इंग्लैंड के हाथों पांचवें टेस्ट में मिली हार के लिए दूसरी पारी में बल्लेबाजों की नाकामी पर ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि पहले तीन दिन दबाव बनाने के बाद उन्होंने मैच पर से पकड़ छोड़ दी। जो रूट और जॉनी बेयरस्टॉ के शतकों की मदद से इंग्लैंड ने भारत को सात विकेट से हराया। मेजबान ने 378 रन का लक्ष्य हासिल किया जो टेस्ट क्रिकेट में उसके लिए सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा करके मिली जीत है।

ENG vs IND, Birmingham Test, Jonny Bairstow, Joe Root, Ben stokes, jasprit Bumrah, Team india, इंग्लैंड बनाम भारत, बर्मिंघम टेस्ट, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जसप्रीत बुमराह, टीम इंडिया

जसप्रीत बुमराह बोले-

टेस्ट क्रिकेट की यही खूबी है कि तीन दिन अच्छा खेलने के बावजूद यह संभव है। हम कल अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर सके और वहीं से मैच हमारी जद से निकल गया। उन्होंने कहा कि यह अगर मगर तो हमेशा रहेगा। पहले मैच में बारिश नहीं हुई होती तो हम श्रृंखला जीत जाते। लेकिन इंग्लैंड ने बहुत अच्छा खेला। बुमराह ने पहली पारी में शतक बनाने वाले ऋषभ पंत और रविंद्र जडेजा की तारीफ की। पंत और जडेजा ने जवाबी हमले से हमें मैच में लौटाया। हमने मैच पर दबाव बना लिया था। उन्होंने कहा कि कप्तानी की जिम्मेदारी का उन्होंने पूरा मजा लिया। यह मैंने तय नहीं किया था। मुझे जिम्मेदारियां पसंद है। यह अच्छी चुनौती थी और टीम की कप्तानी करना गर्व की बात है और शानदार अनुभव भी।

 

ENG vs IND, Birmingham Test, Jonny Bairstow, Joe Root, Ben stokes, jasprit Bumrah, Team india, इंग्लैंड बनाम भारत, बर्मिंघम टेस्ट, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जसप्रीत बुमराह, टीम इंडिया

 

बेन स्टोक्स बोले-

हमारी टीम टेस्ट क्रिकेट को खेलने का तरीका बदल रही है। इस तरह से खिलाडिय़ों के खेलने पर मेरा काम आसान हो जाता है। ड्रेसिंग रूम में स्पष्टता होने पर लक्ष्य का पीछा करना आसान होता है। 378 का स्कोर पांच सप्ताह पहले बड़ा था लेकिन अब सब ठीक है। हम टेस्ट क्रिकेट को खेलने का तरीका बदलने की कोशिश कर रहे हैं। पिछले 4-5 सप्ताह से यह कोशिश जारी है। हम टेस्ट क्रिकेट को नया जीवन देना चाहते हैं। नई पीढ़ी को प्रेरित करना चाहते हैं, नए प्रशंसक बनाना चाहते हैं, टेस्ट क्रिकेट पर अपनी छाप छोडऩा चाहते हैं। 

 

जॉनी बेयरस्टॉ बोले- 

हमें नाकामी का कभी डर नहीं था और वह बस विरोधी टीम पर दबाव बनाना चाहते थे। इस समय बहुत मजा आ रहा है। पिछले कुछ साल मेरे लिए कठिन रहे लेकिन पिछले कुछ महीने शानदार थे। मैं इसका पूरा मजा ले रहा हूं। हम इस रवैये से मैच हारेंगे भी लेकिन यह काफी सकारात्मक ब्रांड की क्रिकेट है।

जो रूट बोले-

भारत के दिए लक्ष्य को हासिल करने का पूरा यकीन था। हम लगातार बेहतर प्रदर्शन की कोशिश करते हैं और खेल का मजा भी लेते हैं। जॉनी की बल्लेबाजी शानदार थी और मैं बस उसे स्ट्राइक देते रहना चाहता था।

ENG vs IND, Birmingham Test, Jonny Bairstow, Joe Root, Ben stokes, jasprit Bumrah, Team india, इंग्लैंड बनाम भारत, बर्मिंघम टेस्ट, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जसप्रीत बुमराह, टीम इंडिया

राहुल द्रविड़ ने कहा-

हम इसके बारे में सोचेंगे। हर मैच के बाद एक सीख होती है। हम तीसरी पारी में खराब बल्लेबाजी और चौथी पारी में खराब गेंदबाजी क्यों कर रहे हैं? हमारे लिए दक्षिण अफ्रीका के बाद अब यहां निराशाजनक दौर रहा। इसके कई कारण हो सकते हैं। हमें फिटनेस का स्तर बनाए रखने की जरूरत है। हमारी बल्लेबाजी तीसरी पारी में ठीक नहीं चल रही। हमने इसे दक्षिण अफ्रीका और एजबेस्टन में देखा। 

.
.
.
.
.