Sports

कराची : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के चेयरमैन एहसान मनी ने बताया कि भारत में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वे मार्च के आखिर तक सभी खिलाड़ियों, अधिकारियों, प्रशंसकों और पत्रकारों के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) से वीजा जारी करने के संबंध में लिखित आश्वासन लेगा। उन्होंने कहा कि मैंने बोर्ड को सूचित किया है कि बीसीसीआई को 31 दिसंबर तक हमें वीजा आश्वासन देना था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ क्योंकि उनके अध्यक्ष सौरव गांगुली दो बार अस्पताल में भर्ती हुए थे।

Sports

उन्होंने कहा कि मैंने फिर से इस मुद्दे को आईसीसी के समक्ष उठाया है और मैं उनके संपर्क में हूं। आईसीसी ने हमें बताया है कि हमें अगले महीने (मार्च) के अंत तक लिखित आश्वासन मिल जाएगा। इस आश्वासन की मांग करना उनका अधिकार है और कोई भी पाकिस्तान को विश्व कप से बाहर नहीं रख सकता है। उन्होंने कहा कि हम या तो सभी नियमों के साथ टी20 विश्व कप के लिए जाएंगे या इसे किसी अन्य देश में ले जाना होगा।

जब उनसे पूछा गया कि क्या इतने देर से टी20 विश्व कप को किसी तटस्थ स्थान पर स्थानांतरित किया जा सकता है तो मनी ने कहा कि पाकिस्तानी नागरिकों को वीजा के अलावा भी भारतीय बोर्ड के सामने कई और चुनौतियां है। उन्होंने कहा कि आईसीसी प्रतियोगिताओं में कर-छूट और कोविड-19 का भी मुद्दा है। आईसीसी पहले ही एक आकस्मिक योजना तैयार कर चुका है और अगर जरूरत पड़ी तो टी20 विश्व कप को यूएई स्थानांतरित किया जा सकता है।

मनी ने यह भी कहा कि अगर भारत डब्ल्यूटीसी के फाइनल के लिए क्वालीफाई करता है तो इस साल तारीखों के टकराव के कारण एशिया कप का आयोजन करना असंभव होगा। उन्होंने कहा कि अभी की स्थिति को देख कर लग रहा है कि एशिया कप को संभवत: 2023 तक स्थगित करना होगा। विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल लॉर्ड्स में 18 से 22 जून तक खेला जाएगा। भारत को फाइनल में पहुंचने के लिए इंग्लैंड के साथ मौजूदा श्रृंखला के चौथे और आखिरी टेस्ट को कम से कम ड्रा खेलना होगा। न्यूजीलैंड की टीम पहले ही इसके लिए क्वालीफाई कर चुकी है।

.
.
.
.
.